Politics

पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने सिद्धू को दी चुनौती, बोले- मेरे खिलाफ लड़ें चुनाव, जब्त हो जाएगी जमानत

Loading...

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को पटियाला से उनके खिलाफ चुनाव लड़ने की चुनौती दी। उन्होंने एक बयान जारी कर साफ किया कि पार्टी में अनुशासनहीनता किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं।

अमरिंदर ने कहा कि अगर नवजोत सिंह सिद्धू उनके खिलाफ चुनाव लड़ना चाहते हैं तो वह ऐसा करने के लिए आजाद हैं। उनका नसीब भी जनरल जेजे सिंह की तरह हो जाएगा। जनरल सिंह पिछले चुनाव में शिरोमणि अकाली दल की टिकट पर अमरिंदर के खिलाफ लड़े थे, लेकिन उनकी जमानत जब्त हो गई थी।

सिद्धू साफ करें, कांग्रेस में हैं या नहीं
अमरिंदर ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू साफ करें कि वह कांग्रेस के सदस्य हैं या नहीं। अगर है, तो मुख्यमंत्री और सरकार के खिलाफ उनकी लगातार बयानबाजी अनुशासनहीनता मानी जाएगी। अमरिंदर सिंह ने कहा कि कांग्रेस के असंतुष्ट धड़े को अपना पक्ष चुन लेना चाहिए, क्योंकि वह पार्टी का अनुशासन तोड़ने में लगे हुए हैं। BJP उन्हें वापस नहीं ले जाएगी। जहां तक शिरोमणि अकाली दल का संबंध है, वे भी उनसे चिढ़े हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुनील जाखड़ की भी सराहना की और कहा कि उनके बाद वह अच्छा काम कर रहे हैं और अपनी जिम्मेदारी अच्छी तरह निभा रहे हैं। इसलिए सिद्धू के सुनील जाखड़ की जगह नियुक्त होने का कोई सवाल ही नहीं है।

पूरी लड़ाई अध्यक्ष पद की अमरिंदर ने कहा कि सिद्धू को अभी कांग्रेस में आए 4 ही साल हुए हैं। ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने युवा कांग्रेस के साथ अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। वे उनसे बहुत सीनियर हैं। इसलिए सिद्धू को पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष का पद कैसे दिया जा सकता है। कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा और सुनील जाखड़ के इस्तीफे की पेशकश पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने इसे खारिज कर दिया है।

सिद्धू ने कैप्टन के खिलाफ मोर्चा खोला
बुधवार को सिद्धू ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से कांग्रेस का नाम हटा दिया था। साथ ही उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ मोर्चा भी खोल दिया। सिद्धू ने कोटकपूरा और बहिबल कलां फायरिंग मामले में SIT की जांच रद्द होने पर बिना नाम लिए कैप्टन पर तंज कसा। सिद्धू ने सोशल मीडिया पर लिखा कि ‘हम तो डूबेंगे सनम, तुम्हें भी ले डूबेंगे।’ उन्होंने लिखा है कि यह सरकार या पार्टी की नाकामी नहीं है, बल्कि एक आदमी है, जिसने दोषियों से हाथ मिला रखा है।

Loading...

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment