Politics

केंद्र ने पाकिस्तान से ऑक्सीजन के आयात की अनुमति नहीं दी : पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह

Loading...

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने गुरुवार को कहा कि पानीपत और बरोटीवाला से ऑक्सीजन (Oxygen Crisis) की आपूर्ति बाधित होने की संभावना है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने पंजाब के स्थानीय उद्योग को वाघा-अटारी सीमा के माध्यम से पाकिस्तान से ऑक्सीजन के वाणिज्यिक आयात की अनुमति देने में असमर्थता व्यक्त की है. उन्होंने कहा कि इससे पंजाब की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली पर बहुत असर पड़ेगा. मुख्यमंत्री सिंह ने कहा कि राज्य में लगभग 10,000 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं.

CM अमरिंदर सिंह ने कहा कि मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए उन्होंने केंद्र सरकार से मदद मांगी है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) और गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से इस समस्या के हल के लिए तत्काल 50 मीट्रिक टन अतिरिक्त ऑक्सीजन और 20 टैंकरों की मांग की है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आश्वासन के बावजूद कि वैकल्पिक स्रोतों से पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी, उन्हें खेद है कि ऐसा नहीं हुआ है. ऑक्सीजन की उपलब्धता न होने की वजह से पंजाब के अस्पताल बेडों की संख्या बढ़ाने में असमर्थ हैं.

बताते चलें कि पंजाब सरकार रोजाना दो खाली टैंकरों को रांची एयरलिफ्ट कर रही है. ऑक्सीजन से भरे हुए टैंकर सड़क के रास्ते राज्य लाए जा रहे हैं. टैंकरों को रांची से पंजाब पहुंचने में करीब दो दिन का समय लगता है.

अगर हमें केंद्र से हर दिन 700 टन ऑक्सीजन मिले तो किसी को इसकी कमी से मरने नहीं देंगे : केजरीवाल

पंजाब का कुल ऑक्सीजन कोटा 195 मीट्रिक टन का है, जिसमें से 90 मीट्रिक टन की आपूर्ति बोकारो से हो रही है. बाकी की 105 मीट्रिक टन ऑक्सीजन हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड से आ रही है. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि पंजाब को उसके हिस्से की तय ऑक्सीजन नहीं मिल रही है.

Loading...

About the author

Yuvraj vyas