Sports

सौरव गांगुली को 36 करोड़ रुपये नहीं दे रही दो कंपनियां, हाईकोर्ट से मांगी मदद, कहा- ये लोग छिपा रहे हैं पैसे

Written by Yuvraj vyas
Loading...

सौरव गांगुली

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बकाया भुगतान के लिए बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। उन्होंने अपनी दो पुरानी प्रबंधन कंपनियों परसेप्ट टैलेंट मैनेजमेंट लिमिटेड और परसेप्ट डी मार्क (इंडिया) लिमिटेड के खिलाफ 2018 में पैसे के भुगतान के आदेश को लागू करने की अपील की है। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भी दोनों कंपनियों की संपत्ति का खुलासा करने की मांग की है। इस पर जस्टिस एके मेनन की सिंगल जज बेंच के समक्ष कंपनियों की ओर से कहा गया कि 20 जुलाई तक वे संपत्ति का ब्योरा देंगे। गांगुली के मुताबिक इन दोनों कंपनियों पर उनका 36 करोड़ रुपये बकाया है. इसमें से 14.50 करोड़ रुपये मूलधन है, जबकि बाकी भुगतान न करने पर देय ब्याज है।

गांगुली ने दोनों कंपनियों से अंतरिम राहत के तहत अपनी संपत्ति से जुड़े किसी भी तरह के लेन-देन पर रोक लगाने की भी अपील की है. उन्होंने अपने आवेदन में इस बात पर चिंता व्यक्त की कि इन कंपनियों के निदेशकों ने किसी अन्य फर्म में डालकर अपने खातों से पैसे छिपाए हैं। परसेप्ट टैलेंट मैनेजमेंट लिमिटेड और परसेप्ट डी मार्क (इंडिया) लिमिटेड के वकील शार्दुल सिंह ने कहा कि वे 20 जुलाई तक संपत्ति का विवरण देंगे। यह मामला गांगुली के प्रबंधन कार्य से जुड़ा है। हाईकोर्ट के एक आदेश के मुताबिक प्लेयर रिप्रेजेंटेशन एग्रीमेंट के तहत दोनों कंपनियों को गांगुली की एक्सक्लूसिव मैनेजर बनने का अधिकार मिला था। इसमें मध्यस्थता का भी नियम था। जब दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ तो समझौता रद्द कर दिया गया। इस पर गांगुली ने समझौते के तहत मध्यस्थता का नियम थोपा।

26 जुलाई को होगी अगली सुनवाई

मध्यस्थता के चलते दोनों कंपनियों को गांगुली को 14,49,91,000 रुपये देने को कहा गया। इसके साथ ही 21 नवंबर 2007 से 12 प्रतिशत ब्याज देने का आदेश भी दिया गया। ब्याज राशि का भुगतान नहीं होने तक जारी रहेगा। गांगुली के वकीलों की ओर से कहा गया कि कंपनियों ने करीब दो करोड़ रुपये ही दिए. 36 करोड़ अब बचे हैं। इसके चलते गांगुली की ओर से हाईकोर्ट से भुगतान का आदेश देने के लिए आवेदन दिया गया था। इस मामले में अगली सुनवाई 26 जुलाई को होगी.

इसे भी पढ़ें: IND vs SL: 6 नौसिखियों की वजह से टीम इंडिया को बताया कमजोर, भुवनेश्वर कुमार बोले- जवान हैं लेकिन…

Loading...

About the author

Yuvraj vyas