entertainment Featured

रिया ने पूछताछ में किया कई अहम नामों का खुलासा, अदालत ने माना

मुंबई: रिया चक्रवर्ती फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं और दो बार उनकी जमानत याचिका खारिज हो चुकी है. एनडीपीएस की विशेष कोर्ट द्वारा खारिज हुई जमानत याचिका का आदेश अब सामने आ गया है, जिससे पता चलता है कि अदालत ने जांच एजेंसी एनसीबी की रिया के खिलाफ दी गई दलीलों को काफी महत्वपूर्ण माना है और उसी आधार पर रिया की जमानत खारिज की है.

Drugs Case: Rhea Chakraborty Revealed Several Important Names In The Interrogation- Ann | रिया ने पूछताछ में किया कई अहम नामों का खुलासा, अदालत ने माना

रिया की जमानत याचिका खारिज करते हुए एनडीपीएस की विशेष अदालत ने अपने आदेश में कहा कि रिया चक्रवर्ती और सुशांत सिंह राजपूत एक दूसरे के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहते थे. रिया चक्रवर्ती का भाई शोविक चक्रवर्ती रिया के कहने पर सुशांत सिंह राजपूत के लिए ड्रग्स मंगवाथाता था. जांच एजेंसी एनसीबी के पास इससे जुड़े हुए चैट और तथ्य भी मौजूद हैं. अदालत ने आदेश में कहा है कि अभी इस केस की जांच एक अहम मोड़ पर है और ये नहीं कहा जा सकता कि आरोपी रिया का रोल महत्वपूर्ण था या नहीं.

एनसीबी के मुताबिक पूछताछ के दौरान रिया ने कई और लोगों का भी नाम लिया है. एनसीबी फिलहाल उन लोगों का भी पता लगा रही है, जिनका रिया ने पूछताछ के दौरान नाम लिया है. ऐसे में अगर आरोपी को जमानत दी जाती है तो मुमकिन है कि वह जिन लोगों के संपर्क में थीं वह उनको जांच के बारे में जानकारी दे दे और वह लोग अपने पास मौजूद सबूतों को नष्ट कर दें, जिससे एनसीबी की जांच प्रभावित हो सकती है. लिहाजा जांच के इस मोड़ पर आरोपी रिया चक्रवर्ती को जमानत नहीं दी जा सकती.

अदालत ने अपने आदेश में एनसीबी द्वारा दी गई दलीलों का जिक्र करते हुए कहा है कि जांच एजेंसी ने अदालत के सामने दलील देते हुए कहा कि रिया का भाई शोविक जो ड्रग मंगवाता था वह रिया चक्रवर्ती की जानकारी में होता था. अक्सर कौन सा ड्रग मंगवाना है और कितना ड्रग मंगवाना है यह भी रिया चक्रवर्ती ही तय करती थीं और उसका पैसा भी रिया चक्रवर्ती ही दिया करती थीं.

रिया के खिलाफ शिकंजा सैमुअल मिरांडा और दीपेश सावंत के बयान से भी कसा है. सैमुअल मिरांडा ने कहा कि वह सुशांत और रिया के कहने पर ही ड्रग लाता था और रही बात पैसे की तो फिर वह सुशांत और रिया ही दिया करते थे. वहीं, दीपेश सावंत ने भी कहा कि अक्सर सुशांत के लिए जो ड्रग आता था उसके लिए या तो सुशांत या रिया ही पैसे दिया करते थे.

रिया की जमानत याचिका का विरोध करते हुए जांच एजेंसी एनसीबी ने अदालत को बताया कि 3 दिनों तक रिया से पूछताछ के दौरान बाकी आरोपियों और रिया को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ भी की गई थी और पूछताछ के दौरान जो तथ्य सामने आए उनकी रिया ने भी पुष्टि की है. इस पूछताछ के दौरान रिया चक्रवर्ती ने भी माना है कि वो सैमुअल मिरांडा और दीपेश सावंत के जरिए ड्रग मंगवाती थीं और उसका पैसा भी देती थीं. इसी आधार पर एनसीबी ने कोर्ट में यह साबित करने की कोशिश की है कि ये सभी लोग एक ड्रग सिंडिकेट का हिस्सा हैं और यह लोग सुशांत सिंह राजपूत के लिए ड्रग मंगवाते थे.

सुनवाई के दौरान एनसीबी ने कोर्ट को यह भी बताया कि आरोपियों के मोबाइल से व्हाट्सएप चैट, गूगल पे, लैपटॉप और हार्ड डिस्क के रिकॉर्ड को खंगालने के बाद यह पता चला है कि आरोपी ड्रग्स के लिए लगातार पैसा देता रहा है.

इन सारे तथ्यों को देखने के बाद एनडीपीएस की विशेष अदालत ने रिया चक्रवर्ती को जमानत देने से इनकार कर दिया. फिलहाल अब रिया चक्रवर्ती के पास विकल्प हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने का है. जब तक हाईकोर्ट से रिया चक्रवर्ती को राहत नहीं मिलती तब तक उन्हें दिन-रात जेल की सलाखों के पीछे ही गुजारने होंगे.

ये भी पढ़ें:

ड्रग्स मामला: NCB ने जेल में बंद रिया चक्रवर्ती से पूछे 55 सवाल, ABP न्यूज़ पर पढ़िए सवालों की लिस्ट 

कंगना रनौत का जया बच्चन पर पलटवार, बोलीं- अभिषेक फांसी लगा लेते तब भी आप ऐसा कहतीं? 

About the author

Yuvraj vyas