Featured

राजस्थान का वो पुलिस वाला जिसने 5 महीने में 430 कोरोना मरीज़ों का किया अंतिम संस्कार

जगह राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेस, शहर के लोग इसे आरयूएचएस कहते हैं। शाम का वक्त है, कुछ कोरोना संदिग्ध मरीज यहां लाए जाते हैं। कानों-कान खबर और उसके साथ दहशत भी अस्पताल में फैलने लगती है।

24 घंटे के भीतर आठ मंजिला हॉस्पिटल खाली हो जाता है। हफ्तेभर में हालात ऐसे हो जाते हैं कि पुलिस बुलानी पड़ती है। आखिरकार 10 अप्रैल को सब इंस्पेक्टर सुंदरलाल को टीम समेत आरयूएचएस में तैनात कर दिया गया। उन्हें सिर्फ 14 दिन के लिए भेजा गया था। पर ये ड्यूटी करीब पांच महीने लंबी हो गई। इस दौरान टीम ने कोरोना से जान गंवाने वाले 430 लोगों का अंतिम संस्कार किया। ठीक हो चुके कई लोगों को घर पहुंचाया। कभी खुद ले जाकर तो कभी किराया देकर।

अभी दो सिंतबर को सुंदरलाल फिर से अपने थाने में आ गए हैं। पांच महीने के अपने अनुभव को उन्होंने कविताओं में ढाला और एक किताब पब्लिश की है।



About the author

Yuvraj vyas