AutoWala Featured

मोदी सरकार का बड़ा फ़ैसला, वंदे भारत ट्रेन में सिर्फ भारतीय कंपनियां ही लगा सकती हैं बोली, चीन को इजाजत नहीं

भारतीय रेलवे 44 वंदे भारत ट्रेनों के लिए 2000 करोड़ रुपये की बोली मंगा रहा है, जो अब तक की सबसे बड़ी बिडिंग मानी जा रही है। इसमें सिर्फ देसी कंपनियां ही बोली लगा सकती हैं। बता दें कि इससे पहले चीन की CRRC कंपनी ने भी इसमें बिडिंग के लिए दिलचस्पी दिखाई थी, लेकिन अब ये तय हो गया है कि इसमें बोली सिर्फ भारतीय कंपनियां ही लगाएंगी। इसकी बिडिंग ऑनलाइन होगी और ये लाइव होगी। जो सबसे कम बोली लगाएगी, उस कंपनी को ये ट्रेनें बनाने का टेंडर मिल जाएगा।

सोमवार को जारी हुए रिवाज्ड टेंडर को घरेलू दो वजहों से कहा जा रहा है। पहला ये कि इसमें 75 फीसदी लोकल कंटेंट होगा, जबकि इससे पहले बिड में 50 फीसदी लोकल कंटेट रखने की बात की जा रही थी। वहीं दूसरी वजह ये है कि सिर्फ भारतीय कंपनियां ही इस टेंडर के लिए बोली लगा सकती हैं।

अधिकारियों ने बताया कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि आत्मनिर्भर भारत के तहत मेक इन इंडिया और घरेलू मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को बढ़ावा दिया जा सके। टेंडर के अनुसार ये ट्रेनें आईसीएफ चेन्नई, आरसीएफ कपूरथला और एमसीएफ राय बरेली में बनाई जाएंगी। इस टेंडर में बोली लगाने के लिए कंपनियों को पहला चरण पार करना होगा, उसके बाद ही बोली लगाने की इजाजत होगी।

About the author

Yuvraj vyas