India News Sports

दिल्ली NCR: योगी सरकार दिल्ली में अरबों रुपये की भूमि पर रोहिंग्याओं के अवैध कब्जे को हटाएगी

Loading...

राजधानी दिल्ली में यमुना के किनारे यूपी सिंचाई विभाग की अरबों रुपये की भूमि पर अवैध कब्जा योगी सरकार हटाएगी। यमुना किनारे पिछली सरकारों की सांठगांठ से रोहिंग्या ने अवैध कब्जा कर रखा है। इस मामले में अतिक्रमण और अवैध कब्जे दिलाने में दिल्ली के एक विधायक और यूपी सिंचाई विभाग के तत्कालीन कुछ अधिकारियों के का खुलासा हुआ है। इस पूरे प्रकरण की जानकारी होने पर मुख्यमंत्री योगी ने नाराजगी जताते हुए राजधानी में उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की भूमि पर हुए अवैध कब्जे को खाली कराने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी के निर्देश पर पिछले दिनों राजधानी में सिंचाई विभाग की 21 हेक्टेयर जमीन में से छह एकड़ को स्वतंत्र कराया था। यूपी सिंचाई विभाग की यमुना खादर में दिल्ली की सीमा में कुल 1007 हेक्टेयर जमीन है। जैतपुर, ओखला, आली, सैदाबाद, जसोला, मदनपुर खादर, मोलरवंद और खुरेजी खास में इन जमीनों पर अवैध कब्जा है। इसमें सिंचाई विभाग की 51.66 एकड़ जमीनों पर इन लोगों ने अवैध कब्जा कर रखा है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की यमुना खादर में दिल्ली की सीमा में कुल 1007 हेक्टेयर जमीन है. ये जमीनें ओखला, जसोला, मदनपुर खादर, आली, सैदाबाद, जैतपुर, मोलरवंद और खुरेजी खास में हैं. जानकारी के मुताबिक इसमें सिंचाई विभाग की 20.9077 हेक्टेयर यानि 51.66 एकड़ जमीनों पर अवैध कब्जा है, जिसको लेकर अब यूपी की योगी सरकार सख्ती की तैयारी में है.

‘धार्मिक स्थलों के नाम पर किए गए अतिक्रमण हटाए जाएं’

वहीं उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सड़क किनारे बने सभी धार्मिक स्थलों को हटाने को लेकर भी सख्त हो गई है. उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने हाल ही में इस संबंध में सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि धार्मिक स्थलों के नाम पर किए गए अतिक्रमण हटाए जाएं. राज्य के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर सड़क के किनारे बने सभी धार्मिक स्थलों को हटाने के निर्देश दिया है. सड़क किनारे धार्मिक स्थलों के नाम पर किए गए अतिक्रमण हटाए जाएंगे.

Loading...

About the author

Pradhyumna vyas

Leave a Comment