Featured

चुटकी में दूर हो जाएगी सारी नेगेटिविटी, बस नवरात्र में कर लें ये 5 काम

Written by Yuvraj vyas

कोरोना की नेगेटिविटी को दूर कर देंगी मां दुर्गा

कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया को ऐसा चपेट में लिया है कि अभी तक इसका अंत दूर-दूर तक नजर नहीं आ रहा है। दुनिया भर में कोरोना से लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। चारों ओर नकारात्मकता भरी हुई दहशत का माहौल है। ऐसे में नवरात्र में मां दुर्गा का आगमन का वातावरण की नेगेट क्रिया को कुछ कम कर सकता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे 5 काम जो नवरात्र में करने से आप अपने चारों ओर की नकाराधमता से उबर लेते हैं।

घट स्थापितापना के दिन करें यह काम

नवरात्र के पहले दिन मां का कलश स्थापित करने के बाद घर के मुख्‍य द्वार पर रोली से स्वास्तिक का चिह्न बनाएं और फिर रोजाना उसकी पूजा करें। फिर नवरात्र के 9 दिनों तक मां दुर्गा की पूजा करने के बाद मुख्य पाठ द्वार पर बने इस स्वास्तिक पर लोटे से थोड़ा-थोड़ा जल चढ़ाएं और फिर पूजा करें। इसके अलावा अगर आपने अभी तक अपने मुख्‍य द्वार पर गणेशजी का चित्र नहीं लगाया है तो नवरात्र के पहले दिन यानि शुभ कार्य कर सकते हैं। मुख्य द्वार पर स्वास्तिक का निशान बनाने से घर में सकारात्मकता का वास होता है और सभी रुके हुए कार्य बनने लगते हैं।

यह बहुत अच्छा काम करता है

नवरात्र में आपको यह काम भी करना चाहिए कि घर के मुख्‍य द्वार पर आम और अशोक के पत्तों से बने तोरण लगाने चाहिए और इसमें गेंदे के फूल को भी शामिल कर लें तो बहुत शुभ रहेगा। ऐसा करने से आपके घर की तरफ सकाराकृतिक ऊर्जा आकर्षित होती है और नकारामक ऊर्जा का नाश होता है। आपके रुके हुए काम फिर से बनने लगते हैं और चारों ओर खुशी का माहौल फिर से बनने लगता है।

नवरात्र के पहले दिन ऐसा करें

नवरात्र के पहले दिन मां लक्ष्मी का भी आह्वान करें। माना जाता है कि मां लक्ष्मी भी दुर्गाजी का ही एक रूप हैं। घर के प्रवेश द्वार पर रोली या चंदन से मां लक्ष्मीजी के पैर बनाएं और उनकी पूजा करें। ऐसा करने से आपके घर में मां लक्ष्मी प्रवेश करती है और सकराकृतिक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता है। ऐसा करने से घर से नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है और घर में सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है।

लक्ष्मी मंदिर जाएं

नवरात्र के नौ दिन में से कोई एक शुभ दिन चुनेंकर आप भी मां लक्ष्मी के मंदिर जाएं और सफेद मिंत्रण से मां को भोग लगाएं। उसके बाद प्रसाद के रूप में यह मिस्टर राजन लोगों को बांट दें। मि। राजन के साथ मंदिर में केसर में रंगे पीले चावल भी चढ़ते हैं। ऐसा करने से मां लक्ष्मी आपके भंडार भर देती हैं और आपके घर में खुशियों का आगमन होता है। ऐसा करना आपके घर को बुरी नजर से बचाने वाला है।

तुलसी की स्थापितपना

अगर आपने अभी तक अपने घर में तुलसी का पौधा नहीं लगाया है तो नवरात्र के किसी शुभ मुहूर्त में देखकर तुलसी के पौधे को अपने घर के आंगन में ढूंढें और रोजाना सुबह शाम पौधे के नीचे दीपक जलाएं और इसमें जल चढ़ाएं हैं। इससे विष्णुजी के साथ मां लक्ष्मी प्रसांतिन होती हैं और आपके घर में धन संबंधी सभी प्रकार की समसयाएं खेडीम होकर आपसी प्रेम बढ़ जाती हैं।

About the author

Yuvraj vyas