Featured

घर के मंदिर में कभी भी ना करें ये 9 गलतियां, वरना भुगतने पड़ेंगे बुरे परिणाम…

हिन्दू धर्म में मूर्ति पूजा का विधान है और 33 करोड़ देवी-देवताओं वाले इस धर्म में सभी इष्ट देवों को एक विशिष्ट स्थान प्रदान किया गया है।

घर में मंदिर – मूर्ति पूजा पर विश्वास करने वाले प्राय: सभी हिन्दू घरों में मंदिर बनाए जाते हैं जिसमें आराध्य देवी-देवताओं की मूर्तियों और तस्वीरों को स्थापित किया जाता है।

ईश्वर का आशीर्वाद – हिन्दू धर्म परंपरा में घर में मंदिर होना महत्वपूर्ण माना गया है। माना जाता है इससे नकारात्मक ऊर्जाओं का प्रवेश बाधित होता है और घर में ईश्वर का आशीर्वाद बना रहता है।

सुख-शांति – इस मान्यता पर विश्वास करने वाले लोग अपने मंदिर में अपने इष्ट देवता की मूर्ति को स्थापित कर उनसे सुख-शांति की कामना करते हैं।

अगरबत्ती जलाना – सुबह और शाम, घर में धूप-अगरबत्ती जलाना भी जरूरी कहा गया है जिसका पालन भी आवश्यक तौर पर किया जाता है।

गलतियां – इन सभी के बावजूद कुछ ऐसे गलतियां हो जाती हैं, जिनकी वजह से शुभ की जगह परिवार पर अशुभ के बादल मंडराने लगते हैं।

श्रद्धा के साथ स्थापना – घर में स्थान के हिसाब से छोटे-बड़े मंदिर बनवाए जाते हैं और बड़ी श्रद्धा के साथ उनमें देवी-देवताओं को स्थापित किया जाता है।

अनजानी गलतियां – परंतु कुछ ऐसी गलतियां हैं जो अकसर लोग अनजाने में कर ही जाते हैं। आइए जानते हैं घर में मंदिर स्थापित करते समय किन-किन बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए।

गणेश जी की मूर्तियां – घर में गणेश जी की मूर्ति होनी चाहिए लेकिन कभी भी घर में मंदिर में गणेश जी की तीन मूर्तियां स्थापित नहीं होनी चाहिए। ये फायदे की जगह नुकसान पहुंचाता है।

शंख – आमतौर पर घर के मंदिर में लोग शंख रखते हैं लेकिन अगर आपने अपने मंदिर में 2 शंख रखे हुए हैं तो आपको एक हटा देना चाहिए। दो शंखों का होना अशुभ होता है।

About the author

Yuvraj vyas