Featured

इस नवरात्रि जरूर अपनाएं वास्तु के ये खास उपाय

Written by Yuvraj vyas

शारदीय नवरात्रि 2020: शारदीय नवरात्रि त्योहार हिंदू धर्म का प्रमुख त्योहार है। यह त्योहार 17 अक्टूबर से शुरू हो रहा है, जो 25 अक्टूबर को समाप्त होगा। नौ दिनों तक चलने वाले इस पवित्र त्योहार में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। मां के भक्त आशीर्वाद पाने के लिए नौ दिनों का उपवास करते हैं। धार्मिक मान्यता के अनुसार, अगर इस समय देवी की पूजा करते समय वास्तु के सरल चरणों को अपनाया जाता है, तो वांछित फल प्राप्त होता है। आइए जानते हैं कि नवरात्रि की इन नौ रातों में आप किस तरह के वास्तु उपाय अपने घर ला सकते हैं।

देवी का स्वागत करने से पहले घर में विशेष सफाई करें। अपने घर से निकलने वाले कचरे जैसे पुराने जूते और चप्पल आदि को हटा दें। धुप दीप से वातावरण को सुंदर बनायें। पूजा स्थल के आसपास कोई गंदगी नहीं होनी चाहिए।

ध्यान रखें कि मंदिर का झंडा उत्तर-पश्चिम दिशा में होना चाहिए। मां दुर्गा की मूर्ति दक्षिणमुखी होनी चाहिए, लेकिन पूजा स्थल के नियम मंदिर से अलग हैं, इसलिए पूजा घर में पूर्व की ओर मुख करके ही करनी चाहिए।

नवरात्रि में देवी की पूजा करने के लिए, उत्तर दिशा में मां दुर्गा की मूर्ति रखें। दक्षिण-पूर्व दिशा में अखंड ज्योति जलाएं। पूजा के लिए उपयोग किए जाने वाले घड़े को लकड़ी के मंच पर रखें। पूजा से पहले हल्दी या कुमकुम से स्वस्तिक चिन्ह बनाएं। इससे पूजा स्थल में सकारात्मक ऊर्जा आती है।

उस स्थान पर विशेष ध्यान देना चाहिए जहां भगवती की पूजा होती है। पूजा कक्ष को सजाते समय रंगों का विशेष ध्यान रखें। हल्के रंग जैसे सफेद, हल्का पीला, हरा आदि को वहां चित्रित किया जाना चाहिए। मां की पूजा करते समय ताजे लाल फूलों का प्रयोग करें।

About the author

Yuvraj vyas