Featured

अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए बोली आमंत्रित, ये देसी कंपनियां दौड़ में

Written by Yuvraj vyas

नेशनल हाईस्पीड रेल कॉर्पोरेशन (NHSRCL) ने बुधवार को पहली निविदा के तहत अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए बोलियां आमंत्रित कीं। कंपनियों के दो कंसोर्टियम और लार्सन एंड टुब्रो ने परियोजना के 237 किलोमीटर खंड पर 20,000 करोड़ रुपये की लागत के निर्माण कार्य के लिए बोली लगाई है।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, एनएचएसआरसीएल ने कहा कि यह परियोजना का सबसे बड़ा टेंडर है, जिसके तहत गुजरात के वापी और वडोदरा के बीच बुलेट ट्रेन के एलाइनमेंट का 47% कवर किया जाना है। इसके तहत इस कॉरिडोर में 4 स्टेशन वापी, बिलिमोरा, सूरत और भरूच का भी निर्माण किया जाएगा।

इन कंपनियों ने बोली लगाई

एनएचएसआरसीएल ने कहा कि तीन बोलीदाताओं ने इस प्रतिस्पर्धी बोली में भाग लिया है, जिसमें कुल सात बुनियादी ढांचा कंपनियां शामिल हैं। एफकॉन इंफ्रास्ट्रक्चर, इरकॉन इंटरनेशनल और जेएमसी प्रोजेक्ट्स इंडिया ने एक साथ बोली लगाई है। इसी तरह एनसीसी-टाटा प्रोजेक्ट-जे कुमार इंफ्रा प्रोजेक्ट्स ने एक साथ बोली लगाई है। लार्सन एंड टुब्रो ने अकेले बोली लगाई।

83 प्रतिशत भूमि अधिग्रहण

237 किलोमीटर लंबे इस गलियारे में 24 नदियाँ और 30 सड़क पार होंगी। यह पूरा खंड गुजरात में है, जहां 83 प्रतिशत से अधिक भूमि का अधिग्रहण किया गया है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने राज्यसभा को बताया था कि भूमि अधिग्रहण का काम मार्च 2020 से पहले पूरा होना था, लेकिन महाराष्ट्र में कुछ अड़चनों के कारण ऐसा नहीं किया गया। पूरी परियोजना 508 किमी की है, जिसमें से लगभग 349 किमी गुजरात में पड़ता है।

90 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार

नेशनल हाईस्पीड रेल कॉरपोरेशन के अनुसार अकेले इस परियोजना से लगभग 90,000 लोगों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रोजगार हासिल होगा।

About the author

Yuvraj vyas