khet kisan News Politics

अनोखी शादी… ट्रैक्‍टर पर बैठे दूल्‍हा-दुल्‍हन, किसान आंदोलन के समर्थन में झंडे लिए बारात

Written by Pradhyumna vyas
Loading...

देश में नए कृषि कानूनों को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, लेकिन अमरोहा जिले में किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए एक अनोखी शादी होने जा रही है। कई दशकों से किसानों की पहचान का प्रतीक रहा हल अब ट्रैक्टर से बदल दिया गया है। 6 फरवरी को किसान के बेटे की शादी में, दूल्हा दुल्हन की शादी करने के लिए हरमेंद्र ट्रैक्टर से एक बारात ले जाएगा। इतना ही नहीं, दूल्हे ने शादी के कार्ड पर ट्रैक्टर की तस्वीर भी छपवाई है और किसान आंदोलन के समर्थन में संदेश लिखा है कि अगर किसान नहीं है तो भोजन नहीं। किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए जुलूस स्थल को बैनर और पोस्टरों से भी सजाया जाएगा।

 

इस समय पूरे देश में किसान आंदोलन का मुद्दा उठा है।

आपने शानदार कारों और सजी-धजी कारों में शादी की बारात में जाते हुए बहुत कुछ देखा होगा। लेकिन उत्तराखंड के उधम सिंह नगर जिले के बाजपुर के काशीपुर से एक बारात में दूल्हा ट्रैक्टर पर सवार होकर पहुंचा। जिस ट्रैक्टर पर दूल्हा दुल्हन को लेने पहुंचा था उसे भी फूलों की मालाओं से शानदार तरीके से सजाया गया था। शादी की सभी रस्में निभाने के बाद दुल्हन भी दूल्हे के साथ ट्रैक्टर पर ही निकल गई। ट्रैक्टर पर अनोखे जुलूस को देखकर शहरवासी दंग रह गए।

दुल्‍हन पक्ष का भी मिला समर्थन
शादी में दूल्हा बने सिवलजीत सिंह ने बताया कि वह किसान परिवार से हैं। इस समय कृषि कानूनों के विरोध में बड़ी संख्या में किसान दिल्ली में धरना दे रहे हैं। लेकिन किसानों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ऐसे में उन्होंने अपने परिवार के साथ कृषि आंदोलन को समर्थन देने के लिए ट्रैक्टर पर बारात ले जाना तय किया। दुल्हन पक्ष ने भी इसमें उनका साथ दिया।

शादी में दूल्हा बने सिवलजीत सिंह ने बताया कि वह किसान परिवार से हैं। इस समय कृषि कानूनों के विरोध में बड़ी संख्या में किसान दिल्ली में धरना दे रहे हैं। लेकिन किसानों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ऐसे में उन्होंने अपने परिवार के साथ कृषि आंदोलन को समर्थन देने के लिए ट्रैक्टर पर बारात ले जाना तय किया। दुल्हन पक्ष ने भी इसमें उनका साथ दिया।

Loading...

About the author

Pradhyumna vyas