Featured Politics

काम की बात : कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए आधार से लिंक कराना होगा मोबाइल नंबर, जानें प्रक्रिया

Loading...

कोरोना महामारी को मात देने के लिए वैक्सीनेशन का काम शुरू हो गया है। इसके लिए देश में टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। पहले चरण में करीब 3 करोड़ कोरोना वॉरियर्स को वैक्सीन दी जा रही है। इसके बाद बाकी लोगों की बारी आएगी। आम नागरिकों को टीका सही वक्त पर लग सके और इसमें किसी तरह की दिक्कत न आए इसके लिए आधार नंबर को मोबाइल नंबर से लिंक कराना जरूरी होगा।

इसी के तर्ज पर आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर सरकार टीकाकरण की सभी जानकारी भेजेगी। ऐप करनी होगी डाउनलोड वैक्सीनेशन के लिए आधार का प्रूफ होना बेहद जरूरी है। इससे ये पता चल पाएगा कि आपको पहला और दूसरा डोज कब लगा है। संपूर्ण टीकाकरण प्रक्रिया की निगरानी विन ऐप के जरिए की जाएगी। ये एक डिजिटिल प्लेटफॉर्म है जिसे मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है।

कोविन ऐप से टीकाकरण की प्रक्रिया, प्रशासनिक क्रियाकलापों, टीकाकरण कर्मियों और उन लोगों के लिए एक मंच की तरह काम करेगा, जिन्हें वैक्सीन लगाई जानी है। इसमें 5 माॅड्यूल है। पहला प्रशासनिक मॉड्यूल, दूसरा रजिस्ट्रेशन मॉड्यूल, तीसरा वैक्सीनेशन मॉड्यूल, चौथा लाभान्वित स्वीकृति मॉड्यूल और पांचवां रिपोर्ट मॉड्यूल। मिलेगा अस्थायी प्रमाण पत्र पहली डोज के बाद वैक्सीन लगवाने वाले को अस्थायी प्रमाण पत्र दिया जा रहा है। ये पूरी तरह से क्यूआर कोड से लैस है। ये 28 दिन के लिए अनिवार्य किया गया है। वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के बाद दूसरा प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। जिसमें लाभार्थी का फोटो लगी होगी।

Loading...

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment