Featured

Banking Stocks में इस महीने 20 फीसदी तक की गिरावट, बैंकों का शेयर खरीदने से पहले जान लें ये खास बातें

Written by Yuvraj vyas

शेयर बाजार में भारतीय बैंकों के शेयर में लगातार गिरावट जारी है। इस महीने की शुरुआत से लेकर अब तक बैंकों के शेयर 15 से 20 फीसदी तक टूट चुके हैं। पिछले तीन हफ्तों में एचडीएफसी बैंक को छोड़कर एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक सहित कई बैंकों के शेयर की कीमतों में 10% से 20% की कमी आई है। 1 सितंबर, 2020 को जहां एसबीआई के एक शेयर की कीमत 218 रुपये थी, अब यह घटकर 182 रुपये हो गई है। वहीं, इस दौरान आईसीआईसीआई बैंक का शेयर भी 394 रुपये से गिरकर 350 रुपये हो गया है। पीएनबी के एक शेयर की कीमत इस महीने की पहली तारीख को 35.70 रुपये थी, जो आज घटकर 29.90 रुपये हो गई है। यही नहीं, इंडसइंड बैंक के एक शेयर की कीमत 1 सितंबर को 627 रुपये थी जो 22 सितंबर को घटाकर 555 रुपये कर दी गई है। बंधन बैंक का शेयर भी 306 रुपये से गिरकर 264 रुपये पर आ गया है।

इसीलिए बैंकों के शेयर गिर गए

बैंकों के शेयरों में 20 फीसदी तक की गिरावट के कई कारण हैं। इसका एक बड़ा कारण सुप्रीम कोर्ट द्वारा 28 सितंबर तक ऋण स्थगन का विस्तार है। इसके अलावा, सुप्रीम कोर्ट भी लोन की स्थगन पर बैंकों द्वारा लगाए गए ब्याज पर फैसला करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि जिन बैंक खातों को 31 अगस्त तक एनपीए घोषित नहीं किया गया था, उन्हें अगले आदेश तक एनपीए घोषित नहीं किया जाएगा। इसकी वजह से बैंक में निवेश करने वाले निवेशक दुविधा में हैं।

बैंकों के स्टॉक में मंदी की संभावना है

इसके अलावा फिनकेन फाइल्स लीक्स के कारण भी बैंकों के शेयर गिर गए हैं। इस लीक में यह बात सामने आई है कि दुनिया भर के बड़े बैंक मनी लॉन्ड्रिंग और अवैध मनी ट्रांजेक्शन में शामिल रहे हैं। इसके कारण, भारत सहित दुनिया भर के बैंकों के शेयर में गिरावट आई है। मामला हल होने तक बैंकों के स्टॉक में मंदी की संभावना है।

बैंकों के शेयर खरीदना फायदेमंद है या नहीं

विशेषज्ञों का कहना है कि अगली दो-तीन तिमाहियाँ बैंकों के लिए चुनौतीपूर्ण होने वाली हैं। जब तक फिनकेन फाइल्स लीक्स का मामला सुलझ नहीं जाता और अर्थव्यवस्था कोरोना से बाहर नहीं निकलती, तब तक बैंकों के स्टॉक में कोई बड़ा सुधार नहीं होगा। कई बैंक अपनी पूंजी बढ़ाने के लिए अन्य संसाधनों को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। अगर आप तीन से 5 साल तक बैंकों के शेयर अपने पास रखने के लिए निवेश करना चाहते हैं, तो अब केवल बैंकों के शेयर ही खरीदें। लेकिन अगर आप शॉर्ट टर्म के लिए निवेश करना चाहते हैं तो यह सही समय नहीं है। अभी, सस्ते में शेयर खरीदना और सही समय पर बेचना सही विचार है।

सोशल मीडिया अपडेट के लिए हमें फेसबुक (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और ट्विटर (https://twitter.com/MoneycontrolH)।



About the author

Yuvraj vyas