Featured

हिन्दू धर्म में तुलसी के पौधे का महत्व और घर पर इस पौधे से कैसे आती है सुख-समृद्धि

Written by Yuvraj vyas

हिंदू धर्म में पूजा-पाठ का विशेष महत्व होता है। मान्यता है पूजा करने से परिवार में सुख और शांति आती है। भगवान की पूजा में कई चीजों का प्रयोग किया जाता है जिसे बहुत ही पवित्र माना गया है। इन पवित्र चीजों में तुलती के पौधे का विशेष महत्व होता है। पूजा, धार्मिक अनुष्ठान, व्रत और त्योहार में तुलसी के पत्तों का प्रयोग अवश्य करते हैं। हिंदू धर्म में तुलसी को बहुत ही शुभ पौधा माना गया है। तुलसी के पौधे का न केवल धार्मिक महत्व है, बल्कि यह एक चमत्कारिक औषधीय पौधा भी है। इसका स्पर्श व इससे तक आने वाली हवा बहुत लाभकारी है। घर के आंगन में या छत पर तुलसी को रोज सुबह-शाम जल चढ़ाएं। शाम को तुलसी के पास घी का दीपक जलाएं ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि का आगमन होता है और सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। आइए जानते हैं हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का महत्व …

1- भगवान विष्णु को तुलसी बहुत ही प्रिय होती है। तुलसी को देवी लक्ष्मी का स्वरूप माना गया है। भगवान विष्णु की पूजा में तुलसी को अवश्य शामिल करना चाहिए। भगवान विष्णु और देवी लक्ष्मी की पूजा तुलसी से करने से व्यक्ति के जीवन में कभी भी धन और सुख की कमी नहीं रहती है।

2- वास्तुशास्त्र के अनुसार तुलसी के पौधे के पत्ते को एकादशी, रविवार और मंगलवार को नहीं तोड़ना चाहिए।

3- वास्तु शास्त्र के अनुसार घर पर तुलसी का पौधा लगाने वाला वास्तु संबंधी तमाम तरह के दोष दूर हो जाते हैं। वास्तुशास्त्र के अनुसार उत्तर-पूर्व दिशा को धन के देवता कुबेर की दिशा मानी जाती है इसलिए घर की आर्थिक स्थिति में वृद्धि करने के लिए तुलसी को उत्तर-पूर्व दिशा में लगाना चाहिए।

4- तुलसी के पौधे में तमाम तरह के औषधि गुण होते हैं। तुलसी के पत्तों को तांबे को पात्र में डालकर उसमें जल रखने से पानी शुद्ध हो जाता है। तुलसी के पत्तों में कीटाणुओं को नष्ट करने की क्षमता होती है। इसके अलावा तुलसी के पत्तों का नियमित रूप से सेवन करने पर कई तरह की बीमारियां भी दूर हो जाती है। रोजाना तुलसी के पौधे के पास बैठने से सांस और अस्थमा जैसी बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है।

5- ऐसी मान्यता है कि घर पर किसी भी तरह की विपत्ति आने पर तुलसी का पौधा पहले से संकेत देना लगता है। घर पर परेशानियां आने पर तुलसी का पौधा धीरे-धीरे सूखने लगता है।

6- अगर तुलसी का पौधा सूख जाए तो उसे नदी या पास के कुँए में डाल देना चाहिए। यदि आप ऐसा न कर सके तो पौधे को गमले की मिट्टी में ही दबा देना चाहिए।

7- तुलसी में सभी प्रकार के कीटाणुओं और नकारात्मक शक्तियों को दूर भगाने का अद्भुत सामर्थ्य है। घर के सभी प्रकार के वास्तु दोष दूर करने के लिए मुख्य द्धार पर एक ओर प्रतिबंध का वृक्ष और दूसरी ओर तुलसी का पौधा गमले में पाते हैं।

About the author

Yuvraj vyas