Featured

स्कूल में पढ़ाते थे ये गुरु, अब गुरुदक्षिणा में चेले ने दिए 1 लाख शेयर!

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक देश का जाना माना केंद्रीय बैंक है। अब इस बैंक के कार्यकारी निदेशक और सीईओ वी वैद्यनाथन चर्चा में हैं। क्योंकि उन्होंने अपने गुरु को आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के 1 लाख शेयर प्रस्तुत किए हैं।

दरअसल, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के सीईओ वी वैद्यनाथन ने अपने टीचर गुरदयाल सरूप सैनी को 1 लाख शेयर दिए हैं। वी वैद्यनाथन को स्कूल में गुरदयाल सरूप सैनी पढ़ाया करते थे। बैंक ने स्टॉक एक्सचेंज को इसकी जानकारी दी है।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने बताया कि वैद्यनाथन के आगे बढ़ने में इस गुरु की बड़ी भूमिका है। में उन्होंने स्कूली शिक्षा के दौरान वैद्यनाथन का काफी हौसला बढ़ाया और मदद की। उसी को याद करते हुए वैद्यनाथन ने अपने गुरु और गुरुदक्षिणा के तौर पर यह तोहफा दिया है।

बैंक ने exc को बताया कि कंपनी एक्ट के तहत वैद्यनाथन के शिक्षक गुरदयाल सरूप सैनी रिलेटेड पार्टी नहीं हैं, इसलिए इस राशि पर उनके टीचर टैक्सेडएंगे। वर्तमान में आईडीएफसी प्रथम बैंक के शेयर का भाव 29.75 रुपये है।

अगर शेयर की कीमत का हिसाब लगाएं तो ये 1 लाख शेयरों की वैल्यू करीब 30 लाख रुपये बैठती है। वी वैद्यनाथन ने आईडीएफसी बैंक को एक नई पहचान दिलाई है। वैद्यनाथन ने पहले कैपिटल फर्स्ट की शुरुआत की थी, जिसे दिसंबर 2018 में आईडीएफसी बैंक में विलय कर दिया गया था।

विलय के बाद बैंक का नया नाम आईडीएफसी पहला बैंक कर दिया गया। 2018 में जब यह विलय नहीं हुआ था तब भी वैद्यनाथन ने कैपिटल फर्स्ट के 4,30,000 शेयर अपने परिवार के सदस्यों, दोस्तों और घर में काम करने वाले नौकरों को दिए थे।

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment