Health Lifestyle

व्रत या उपवास क्यों करना चाहिए? उपवास के दौरान न करें ये गलतियां !

Loading...

हिंदू धर्म में व्रत और उपवास को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। हिंदुओं में हर दिन व्रत होता है और सभी धर्मों के लोग अपने-अपने तरीके से व्रत रखते हैं। आम तौर पर उपवास का अर्थ है दृढ़ संकल्प या दृढ़ संकल्प। साथ ही, इसका आध्यात्मिक अर्थ भगवान के समीप बैठना है। वास्तव में उपवास का संबंध हमारी शारीरिक और मानसिक शुद्धि से है। उपवास में भोजन छोड़ना और खाली पेट रहना शामिल है, लेकिन आजकल लोग उपवास के नाम पर बहुत सी चीजें खाने लगे हैं। जिसके कारण उन्हें कई बीमारियों से गुजरना पड़ता है।

उपवास रखना भी शांत और स्थिर रहने का एक अवसर है जिसके कारण मानसिक तनाव नहीं होता है। मोटापा कम करने में उपवास और व्रत भी अलग भूमिका निभाते हैं। साथ ही, धर्म लाभ। व्रत रखने से शरीर स्वस्थ रहता है साथ ही पेट से संबंधित बीमारियों से बचाव होता है।

उपवास के लाभों में से एक यह है कि यदि आप मौसम परिवर्तन की स्थिति में उपवास रखते हैं, तो मौसमी संक्रमण अवधि के रोग पास नहीं आते हैं। जिसके कारण हमें मौसमी बीमारियों का खतरा नहीं है। इसके अलावा, भूखे रहने और भूख को सहन करने की इच्छा शक्ति विकसित होती है। उपवास रखने से, खाने से नियंत्रण के कारण किसी भी बीमारी का खतरा नहीं होता है, जिसके कारण हमारा शरीर स्वस्थ रहता है।

एमएस नई दिल्ली की सहायक आहार विशेषज्ञ रेखा पाल शाह का कहना है कि बहुत से लोग आम दिनों की तुलना में उपवास के नाम पर तैलीय, मीठे, फल, नट्स आदि खाते हैं, इससे उपवास से लाभ के बजाय नुकसान हो सकता है। रेखा कुछ ऐसी भोजन संबंधी गलतियाँ दिखा रही हैं जो लोग उपवास के दौरान करते हैं और यह उनके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती है या उपवास से लाभ नहीं उठा सकती है।

उपवास में क्या करें क्या न करें ?

1-  एनर्जी बनाए रखने के लिए प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स वाली डाइट लें। फैटी चीजें कम खाएं।

2-  उपवास में फ्रूट, दूध, जूस जैसे फूड लें जिनसे दिन भर में बॉडी को जरूरी कैलोरी मिलती रहे।

3-  सिर्फ चाय या नींबू पानी पीकर व्रत न रहें। सॉलिड फूड भी लेना बहुत जरूरी है।

4-  उपवास में सिंघाड़े या कुट्टू के आटे की पुड़ी या पराठा के बजाय रोटी बनाकर खाना ज्यादा हेल्दी है।

5-  खाली पेट रहने से एसिडिटी बढ़ सकती है। इसलिए ज्यादा देर तक पेट खाली न रखें।

6-  खाली पेट खट्टे फल खाने से जलन हो सकती है। नींबू, संतरा, मौसम्बी के बजाय तरबूज, खीरा, एप्पल खाएं।

Loading...

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment