entertainment India Politics

मुस्लिम धार्मिक नेता की 1000 गर्लफ्रेंड्स, मिली 1075 साल की सजा

Loading...

इस्‍तांबुल
तुर्की के मुस्लिमों के एक पंथ के नेता अदनान ओकतार को इस्‍ताबुंल की एक अदालत ने यौन उत्पीड़न से जुड़े 10 अलग-अलग अपराधों में 1075 साल की सजा सुनाई है। अदनान एक पंथ का प्रमुख है और अभियोजन पक्ष उसके संगठन को आपराधिक मानता है। वर्ष 2018 में देशभर में मारे गए छापे में ओकतार के दर्जनों मानने वाले अरेस्‍ट किए गए थे। अदनान ओकतार लोगों को कट्टरपंथी मत के बारे में उपदेश देता था जबकि महिलाओं को वह ‘बिल्लियां’ बुलाता था। एक मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, अदनान पर यौन अपराध, नाबालिगों के यौन शोषण, धोखाधड़ी और राजनीतिक तथा सैन्य जासूसी करने का आरोप लगाया गया है। करीब 236 लोगों के खिलाफ मामला चलाया गया और इनमें से 78 लोग अरेस्ट किए गए हैं।


अदनान एक पंथ का प्रमुख है और अभियोजन पक्ष उसके संगठन को आपराधिक मानता है। वर्ष 2018 में देशभर में मारे गए छापे में ओकतार के दर्जनों मानने वाले गिरफ्तार किए गए थे। अदनान ओकतार लोगों को कट्टरपंथी मत के बारे में उपदेश देता था जबकि वह महिलाओं को ‘बिल्लियां’ बुलाता था। अदनान टीवी शो में इन महिलाओं के साथ डांस भी करता था, जो प्लास्टिक सर्जरी कराई हुई थीं।

अदनान के घर से 69 हजार गर्भनिरोधक गोलियां मिलीं

अदालत में सुनवाई के दौरान अदनान के बारे में कई राज और खौफनाक यौन अपराधों का खुलासा हुआ। अदनान ने दिसंबर में सुनवाई के दौरान जज को बताया था कि उसकी करीब 1000 गर्लफ्रेंड हैं। उसने कहा था कि महिलाओं के प्रति मेरे दिल में प्यार उमड़ रहा है। प्यार इंसान की खासियत है। यह एक मुसलमान की खूबी है। एक अन्य सवाल के जवाब में उसने कहा था, मैं बाप बनने की असाधारण क्षमता रखता हूं।

अदनान सबसे पहले वर्ष 1990 के दशक में दुनिया के सामने आया था। उस समय वह एक ऐसे पंथ का नेता था, जो कई बार सेक्स स्कैंडल में फंस चुका था। उसके एक टीवी चैनल ने वर्ष 2011 में ऑनलाइन प्रसारण शुरू किया था, जिसकी तुर्की के धार्मिक नेताओं ने कड़ी निंदा की थी। एक महिला ने सुनवाई के दौरान बताया कि अदनान ने कई बार उनके और अन्य महिलाओं के साथ यौन शोषण किया। कई महिलाओं के साथ जबरन रेप किया गया और उन्हें गर्भनिरोधक दवाओं को खाने के लिए मजबूर किया गया। अदनान के घर से 69 हजार गर्भनिरोधक गोलियां मिली थीं।

Loading...

About the author

Pradhyumna vyas

Leave a Comment