Featured

मिठाई बेचने वाले ध्यान दे ! आज से लागू हुआ मोदी स्करकर का ये कानून, मिठाई के डब्बे पर लिखना जरूरी

मिठाई काराेबारियाें काे अब काउंटर के अंदर रखी मिठाईयाें की ट्रे पर मिठाई की एक्सपायरी डेट (खराब होने की तारीख) लिखनी पड़ेगी। अब मिठाई के डिब्बे पर एक्सपायरी डेट नहीं लिखना होगी। नई व्यवस्था गुरुवार से लागू होगी। यह प्रावधान फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) ने किया है, ताकि उपभाेक्ताओं काे अच्छी गुणवत्ता की मिठाई मिल सके।

एफएसएसएआई के निर्देशाें के मुताबिक स्वीट सेंटर संचालक और मिठाई काराेबारियाें काे संबंधित खाद्य पदार्थ के खराब होने की तारीख स्वयं लिखना होगी। व्यापारी एक्सपायरी डेट गलत न लिखें, इसके लिए दुकानों व उनकी किचिन का औचक निरीक्षण खाद्य सुरक्षा अधिकारी करेंगे। इसके अलावा तारीख गलत लिखने जैसी शिकायतों की जांच, खाद्य पदार्थ के सैंपल टेस्ट से होगी।

आदेश की घोषणा करते हुए, मोहाली के जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ। सुभाष शर्मा ने कहा कि लोगों के लिए गुणवत्ता और स्वास्थ्यकर मिठाइयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने ये निर्देश जारी किए हैं। गैर-पैकेज्ड / लूज मिठाइयों के मामले में, कंटेनर / ट्रे को 1 अक्टूबर, 2020 से अनिवार्य रूप से उत्पाद की सबसे अच्छी-पुरानी तारीख से पहले प्रदर्शित किया जाना चाहिए, शर्मा ने कहा कि इस मामले में विक्रेता भी चिह्नित कर सकता है। विनिर्माण की तारीख, लेकिन यह स्वैच्छिक और गैर-बाध्यकारी होगी।

स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि कन्फेक्शनरों उत्पाद की प्रकृति और स्थानीय स्थितियों के आधार पर मिठाई की सर्वश्रेष्ठ-पहले की तारीख तय करेंगे और प्रदर्शित करेंगे। विभिन्न प्रकार की मिठाइयों के शेल्फ जीवन की एक सांकेतिक सूची पारंपरिक दूध उत्पादों की सुरक्षा पर मार्गदर्शन नोट में दी गई है जो एफएसएसएस वेबसाइट पर उपलब्ध है।

शर्मा ने कहा कि उक्त सूचना को प्रदर्शित करने का उद्देश्य उपभोक्ताओं के स्वास्थ्य की रक्षा करना है क्योंकि वे यह जान सकेंगे कि जो मिठाई वे खरीद रहे हैं वह समाप्त हो चुकी है या वे किस तारीख तक खाद्य हैं। उन्होंने लोगों को शुद्ध खाद्य पदार्थों को प्राथमिकता देने के लिए कहा और दुकानदारों से सफाई पर विशेष ध्यान देने को कहा।

नए मानदंड दुकानदारों को परेशान करने के लिए नहीं हैं, लेकिन यह सुनिश्चित करने के लिए कि लोगों को स्वच्छ और गुणवत्ता वाले खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराए जाएं, उन्होंने कहा कि स्वस्थ समाज के लिए नए दिशानिर्देशों को लागू करने में अपना सहयोग मांगते हैं।

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment