Featured

भूलकर भी किसी से ना ले यह पौधा, वरना सब कामों पर फिर जाएगी पानी

उपहार लेना या देना भारत में प्राचीन काल से चला आ रहा है। इसे एक दूसरे के प्रति स्नेह और प्रगाढ़ता दर्शाने का एक सशक्त माध्यम भी माना जाता है लेकिन कई बार उपहार देने वाले नकारात्मक ऊर्जा आपके  लिए बुरे अनुभव का कारण भी हो सकता है। यही कारण है कि वास्तु विज्ञान उपहार में मिलने वाले कुछ वस्तुओं का निषेध करता है। इन्ही में से एक है तुलसी का पौधा। लोग इसे पूजनीय पौधा मानकर सहर्ष इसे स्वीकार भी करते हैं लेकिन ऐसा करना आपके लिए नकारात्मक प्रभाव वाला हो सकता है।

वास्तु विज्ञानियों ने तुलसी का पौधा उपहार में न लेने के साथ ही कई अन्य निषेध या उपाय भी बताए हैं। इन्हें हम आपसे साझा कर रहे हैं।

● ताँबे और लोहे का छल्ला एक साथ न पहनें ।
●  घर के सभी लोग एक साथ बाहर न निकले ।

●  घर खाली हाथ वापस न आये ।
●  पूजा का दीपक रोजाना दो लौग डालकर ही जलाये ।
●  पूजा के बाद घंटा और शंख अवश्य बजाए ।
●  नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने, वास्तु दोष के प्रभाव को कम करने और आर्थिक उन्नति हेतु, एक नन्हा सा तुलसी का पौधा अपने हाथों से लगाएं।

●  पक्षीयो के पीने के लिए जल की व्यवस्था करे 
● घर के सभी शीशे हमेशा ढककर रखें ।
●  बाथरूम का दरवाजा हमेशा बंद रखें ।
●  सोते समय मस्तक दक्षिण या पूर्व की दिशा मे रखे ।
●  घर की गृहणी स्नानादि के बाद ही रसोई मे प्रवेश करे ।
●  गृहणी सुबह-सुबह उठकर मुख्य द्वारपर जल का छिड़काव करे ।
●  भोजन हमेशा पूर्व दिशा की ओर बैठकर ही करें ।
●  झाडू हमेशा दरवाजे के पीछे दक्षिण -पश्चिम की दिशा मे रखें ।
●  घर मे टूटी-फूटी चीजें यह किसी भी तरह के कबाड़ को न रखे ।
●  शुक्रवार को खीर जरूर खाएं ।

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment