India Politics

प्रधानमंत्री आज करेंगे समुद्री इंडिया समिट का उद्घाटन, 50 से ज्यादा देश लेंगे हिस्सा

Loading...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) मंगलवार को वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से ‘मैरीटाइम इंडिया समिट 2021’ (Maritime India Summit 2021) का उद्घाटन करेंगे. 50 देशों के एक लाख से ज्यादा प्रतिभागियों ने एमआइएस समिट 2021 के लिए ऑनलाइन पंजीकरण किया है. पीएम मोदी ने सोमवार रात ट्वीट करके कहा, “कल, 11 मार्च को सुबह 11 बजे, मैरीटाइम इंडिया समिट 2021 का उद्घाटन किया जाएगा. यह शिखर सम्मेलन समुद्री क्षेत्र के प्रमुख हितधारकों को एक साथ लाएगा और भारत की समुद्री अर्थव्यवस्था के विकास को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएगा.”

यह शिखर सम्मेलन अगले दशक के लिए भारत के समुद्री क्षेत्र के लिए एक रूपरेखा की संकल्पना करेगा और भारत को वैश्विक समुद्री क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिए कार्य करेगा। कई देशों के प्रख्यात वक्ताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने और भारतीय समुद्री क्षेत्र में संभावित व्यापार अवसरों और निवेश की तलाश करने की संभावना है। तीन दिवसीय शिखर सम्मेलन के लिए डेनमार्क साझेदार देश है।

‘समुद्री क्षेत्र में भारत को आत्मनिर्भर बनाने में अहम’

केंद्रीय बंदरगाहों के स्वतंत्र प्रभार, जहाजरानी और जलमार्ग मंत्री मनसुख मंडाविया ने बताया कि ये समिट समुद्री क्षेत्र में भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण साबित होगा. देश में बंदरगाहों का आधुनिकीकरण हो रहा है. हमने इस क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने के लिए मैरीटाइम विजन तैयार किया है. उन्होंने कहा, “भारतीय समुद्री क्षेत्र में आधुनिकीकरण, विकास, क्रूज पर्यटन, रोपैक्स फेरी सेवा, सीप्लेन सेवा की मांग बढ़ रही है.”

’50 से अधिक देशों के लोगों ने किया रजिस्ट्रेशन’

उन्होंने बताया, “समिट में पीएम मोदी दुनिया के सामने मैरीटाइम विजन भी सबके सामने रखेंगे. दुनिया भर के 50 से अधिक देशों के लोगों ने MIS समिट 2021 के लिए रजिस्ट्रेशन किया है. एक लाख 17 हजार प्रतिभागियों ने ऑनलाइन पंजीकरण किया है. 100 से अधिक CEO विभिन्न देशों की बड़ी कंपनियां इस मेगा इवेंट में भाग ले रही हैं, जिसमें कई देशों के राजदूत भी शामिल हैं. दुनिया भारत के समुद्री क्षेत्र में निवेश करना चाहती है.”

 

पोर्ट्स, शिपिंग और वाटरवेज मंत्रालय के एक अधिकारी ने एएनआइ को बताया कि एमआइएस 2021 के माध्यम से तीन लाख करोड़ से ज्यादा के निवेश की उम्मीद है और मैरीटाइम इंडिया समिट 2021 के दूसरे संस्करण के दौरान लगभग 400 समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए जाने की संभावना है।

Loading...

About the author

Pradhyumna vyas

Leave a Comment