Featured

प्याज की कीमतें आसमान में, क्या 100 रुपये पहुंच जाएगा भाव?

अक्सर महंगाई के आंसू रुलाने वाला प्याज फिर से आसमान छूने लगा है. चेन्नई के खुदरा बाजार में प्याज की कीमतें मंगलवार को 73 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई. दिल्ली और मुंबई जैसे महानगरों में प्याज पहले से काफी महंगा बिक रहा है. केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने इस संबंध में आंकड़े जारी किए हैं. प्याज की कीमतें बढ़ने की वजह उत्पादक क्षेत्रों में बारिश बताई जा रही है. इससे आपूर्ति में बाधा आई है.

आंकड़ों के मुताबिक, मंगलवार को दिल्ली में प्याज का खुदरा भाव 51 रुपये प्रति किलोग्राम, कोलकाता में 65 रुपये प्रति किलोग्राम और मुंबई में 67 रुपये प्रति किलोग्राम रहा. लखनऊ में 70 रुपये किलोग्राम के पार पहुंच गया. व्यापारियों का मानना है कि दक्षिण और पश्चिमी क्षेत्रों में भारी वर्षा से आपूर्ति बाधित हुई है.

इससे खरीफ की फसल की आवक प्रभावित हुई है. यह आपूर्ति आने वाले हफ्तों में पूरी तरह से बहाल होने का अनुमान है. फिलहाल रबी फसल के दौरान एकत्रित प्याज बाजार में बेचा जा रहा है. आम तौर पर खपत वाले क्षेत्रों में कीमतें इस दौरान बढ़ जाती हैं. लेकिन प्रमुख उत्पादक क्षेत्रों में बारिश ने तबाही मचा दी है, जिससे आपूर्ति में कमी आई है.

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक चेन्नई में प्याज की कीमतें तेजी से बढ़कर 73 रुपये प्रति किलोग्राम रही, जबकि एक साल पहले यह कीमत 33 रुपये प्रति किलोग्राम थी. मुंबई में भी प्याज की कीमत पिछले साल के 56 रुपये प्रति किलोग्राम से बढ़कर अब 67 रुपये प्रति किलोग्राम रही. जबकि कोलकाता में यह कीमत 60 रुपये प्रति किलोग्राम से बढ़कर 65 रुपये प्रति किलोग्राम हो गयी. दिल्ली में कीमतें एक साल पहले की समान अवधि में 46 रुपये प्रति किलोग्राम थी जो अब बढ़कर 51 रुपये प्रति किलोग्राम हो गईं है.

देश में प्याज के शीर्ष उत्पादक क्षेत्र महाराष्ट्र के नासिक में भी प्याज का खुदरा मूल्य मंगलवार को 66 रुपये प्रति किलोग्राम रहा, जो एक साल पहले की समान अवधि में 35 रुपये प्रति किलोग्राम था. प्याज की घरेलू उपलब्धता और बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने पिछले महीने प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था.

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment