Featured Politics

पाकिस्तान के ‘प्रपंच’ पर भारत ने दिया करारा जवाब, कहा- अब सिर्फ PoK पर बात होगी

चार्ल्सटन: संयुक्त राष्ट्र (UN) की स्थापना के 75 वर्ष पूरे हो चुके हैं और इसी प्रकार संयुक्त राष्ट्र आम सभा (UNGA) की बैठक भी चल रही है। इस बैठक में वर्ग तरीके से दुनिया के शीर्ष नेता शामिल हुए, जिसमें बात करते हुए पाक के पीएम इमरान खान ने कश्मीर का मुद्दा उठाया। इमरान खान के बयान के बाद भारत सरकार की तरफ से मिजितो विनितो (मिजितो विनितो) ने पाकिस्तान की जमकर खबर ली। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को अब पीओके खाली करना होगा।

पाकिस्तान को दुनिया के सामने किया गया
संयुक्त राष्ट्र में भारतीय मिशन के प्रथम सचिव मिजितो विनितो (मिजितो विनितो) ने कहा, ‘इमरान खान ने भारत को लेकर कई बातें कहीं, लेकिन हैरानी की बात है कि उन्होंने ये सब खुद के बारे में कहा। पाकिस्तान के पास इस महासभा में झूठ बोलने के सिवाय कुछ भी नहीं था। ‘

ओसामा बिन लादेन को इमरान खान ने बताया था कि शहीद: भारत
भारत का पक्ष रखते हुए मिजितो विनितो ने कहा कि इमरान खान (इमरान खान) ने खुद पाकिस्तान की संसद में ओसामा बिन लादेन (ओसामा बिन लादेन) को ‘शहीद’ करार दिया था। यही नहीं, खुद इमरान खान ने 2019 में अमेरिका में माना था कि उनके देश में 30 से 40 हजार आतंकवादियों के प्रशिक्षण दिए गए हैं। और फिर उन्हें भारत और अफगानिस्तान (अफगानिस्तान) में आतंकवाद फैलाने के लिए भेजा गया। विशेष कर भारत के जम्मू और कश्मीर (जम्मू और कश्मीर) में। ‘

पाकिस्तान को खाली कर दो
उन्होंने साफ शब्दों में कहा, ‘कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और जिन क्षेत्रों पर’ पाकिस्तान (पाक अधिकृत कश्मीर) का कब्जा है। उसे खाली किया जाए। ‘ राइट टू रिप्लाई के तहत भारत ने पाकिस्तान को ये जवाब दिया है।

अल्पसंख्यकों का नस्लीय सफाया पाकिस्तान को बंद कर देता है
मिजितो विनितो ने पाकिस्तान के अंदर हो रहे धार्मिक उत्पीड़न को दुनिया के सामने रखा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में हिंदुओं, ईसाईयों और सिखों के साथ ही अन्य धार्मिक, नस्लीय समूह के लोगों का सफाया किया जा रहा है। उनके ऊपर धर्म के अपमान का आरोप लगाकर उन्हें कजा दी जा रही है और जबरन उनका धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है।

भारत ने इमरान खान के भाषण का किया बहिष्कार
संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75 वें सत्र में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने पहले से रिकॉर्ड किए गए वीडियो संबोधन में जम्मू-कश्मीर सहित भारत के आतंकवादी मामलों का जिक्र किया। खान के संबोधन में जैसे ही भारत का जिक्र आया, वैसे ही संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन के प्रथम सचिव मिजितो विनितो महासभा हॉल से बाहर चले गए।

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment