Featured

दो नवंबर से खुल रहा JNU, जानें इन यूनिवर्सिटीज का स्टेटस, ये होंगे नियम

अनलॉक 5 की केंद्र सरकार की गाइडलाइन आने के बाद से देश भर में स्कूल-कॉलेज, यूनिवर्सिटीज खोलने की तैयारी की जा रही है. इसी क्रम में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय को चरणबद्ध तरीके से दो नवंबर से खोला जा रहा है. जानिए देश की दूसरी यूनिवर्सिटीज का स्टेटस. कैंपस खुलने पर किन नियमों का होगा पालन.

कोरोना महामारी की वजह से देशभर के स्कूल-कॉलेज और विश्वविद्यालय मार्च से ही बंद है. 15 अक्टूबर से देश के कई प्रदेशों में शिक्षण संस्थान खुल गए हैं. अब इसके बाद जेएनयू को 2 नवंबर को चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा. पहले चरण में शोधार्थियों और पीएचडी छात्रों के लिए कैंपस खुलेगा.

जेएनयू के आधिकारिक बयान के अनुसार पहले चरण में जेएनयू उन शोधार्थियों और पीएचडी अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए खुलेगा जिन्हें प्रयोगशालाओं में जाना और अपनी थीसीज जमा करानी है. वहीं दूसरे चरण में जेएनयू को 16 नवंबर से खुल जाएगा. दूसरे चरण में हॉस्टल में रहने वाले अंतिम वर्ष के पीएचडी छात्रों को विश्वविद्यालय आने की अनुमति मिलेगी.

जेएनयू में इस दौरान केंद्रीय पुस्तकालय और कैंटीन व कैंपस के सभी ढाबे बंद रहेंगे. वहीं जेएनयू छात्रसंघ मांग कर रहा है कि कैंपस में शोधार्थियों की चरणबद्ध तरीके से वापसी की अनुमति दी जाए. जेएनयू छात्र संघ के सदस्य पिछले शनिवार से विश्वविद्यालय गेट पर इस मुद्दे को लेकर प्रदर्शन भी कर रहे हैं.

कोरोना संक्रमण के चलते मार्च से ही बंद पड़े विश्वविद्यालयों में शैक्षणिक गतिविधियां शुरू करने को लेकर यूजीसी ने प्रोफेसर आरसी कुहाड की अगुवाई में एक उच्च स्तरीय कमेटी गठित की थी. जिसकी सिफारिश के बाद यह फैसला लिया गया था कि सभी विश्वविद्यालय पहले वर्ष की प्रवेश प्रक्रिया 31 अक्टूबर तक पूरी कर लें.

इसी क्रम में दिल्ली विश्वविद्यालय भी एक नवंबर से खुल रहा है. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश सहित देश के कई विश्वविद्यालय 15 अक्टूबर से खुल गए हैं. यहां भी छात्रों को स्वेच्छा से आने के लिए कहा गया है. जिन रिसर्च छात्रों को लैब या थीसिस के जरूरी काम हैं वे कैंपस आ सकते हैं.

इसी कड़ी में कर्नाटक सरकार ने फैसला लिया है कि राज्य में 17 नवंबर से डिग्री कॉलेज खोले जाएंगे. इसके अलावा सरकार ने ये व्यवस्था भी की है कि स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन लर्निंग के विकल्प भी खुले रखे जाएंगे. बता दें कि उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा, असम सहित तमाम राज्यों में 15 अक्टूबर से स्‍कूल-कॉलेज खोले जा चुके हैं. इसे लेकर स्‍टैंटर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर यानी SOP पहले ही जारी किया जा चुका है. इसमें कोविड से जुड़ी सावधानियों के बारे में बताया गया था. श‍िक्षा मंत्रालय ने भी इसे लेकर गाइडलाइन जारी की है.

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment