Politics

देश के 787 सांसदों में से 250 ने ही दिए एक-एक करोड़, भाजपा के सांसद भी हट रहे पीछे

Loading...

राज्यसभा और लोकसभा के सांसदों को सांसद निधि से कोरोना-निधि के रूप में एक-एक करोड़ रुपए की धनराशि आवंटित करने की अपील लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायु ने दो दिन पहले की थी। अब तक कुल 250 सांसदों ने इसका लिखित सहमति दे दी है जब कि 537 सांसदों की ओर से अभी भी सूचना आनी बाकी है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी के सभी सांसदों को एक करोड़ रुपए की राशि कोरोना से सामना करने के लिए देने का निर्देश दिया है।

राज्यसभा और लोकसभा में भाजपा के कुल 386 सांसद हैं। कांग्रेस के कोटे से दोनों सदनों में 98 सांसद हैं, लेकिन ऐसा कोई आदेश कांग्रेस आलाकमान ने नहीं दिया है कि सभी को एक-एक बैठक की पेशकश की जाए। दोनों सदनों के सांसदों ने एक-एक करोड़ रुपए की धनराशि एमपी निधि से दी तो कोरोना से लड़ने के लिए 787 करोड़ रुपए की राशि जमा होगी।

इस बीच राज्यसभा के सभी कर्मचारियों को एक दिन का वेतन इस मद में दिया गया। राज्य सचिवालय के 13 सौ कर्मचारियों के एक दिन का वेतन 33 लाख रुपये जमा किया गया। राज्यसभा के महासचिव देशदीपक वर्मा और तिलारीबन 50 वरिष्ठ अधिकारियों ने दो दिनों का वेतन दान स्वरूप दिया।

राज्यसभा के महासचिव ने मंगलवार को लॉकडाउन के दौरान घरों से चलने वाले कामों का जायजा लिया। वीडिया कांफ्रेंसिंग के माध्यम से वे जहां संबंधित विभागों के प्रमुखों से कार्यों का बोझरा लिया वहीं परिजनों से लॉकडाउन के दौरान पूरे दिन के क्रियाकलाप की जानकारी भी ली। विदित हो कि लॉकउआडन के कारण राज्यसभा सचिवालय बंद है। सभी काम घर से निपटाए जा रहे हैं। कोरोनावायरस सामना के लिए ये व्यवस्थाजाम किया गया है।

Loading...

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment