Featured

त्योहार कैसे मनाएं? नो-सेल्फी, नो-बधाई, पढ़ें सरकार की पूरी गाइडलाइंस

अगले दो महीनों के दौरान देशभर में कई बड़े त्योहार हैं। नवरात्र का आगाज हो गया है। उसके बाद दिवाली और फिर छठ-पूजा है। नवरात्र के दौरान देश के कई हिस्सों में राम-लीला का आयोजन किया जाता है। जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं। लेकिन इस बार कोरोना महामारी के बीच सभी त्योहारों का आयोजन हो रहा है। ऐसे में सावधानी ही एकमात्र बचाव है।

दरअसल, खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना संकट के बीच त्योहारों के दौरान लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और वर्क का इस्तेमाल जरूर करें। इसके अलावा संस्कृति मंत्रालय की ओर से त्योहारों के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों को लेकर विशेष गाइडलाइंस (एसओपी) जारी की गई है। सरकार का कहना है कि इन नियमों का सख्ती से पालन करते हुए सभी तरह के कार्यक्रम होंगे। वादकारियों और दर्शकों में कार्यक्रम को लेकर हौसला बना रहेगा।

सबसे पहले केंद्र सरकार का कहना है कि संरक्षण जोन के भीतर किसी भी सांकेतिक कार्यकलाप की अनुमति नहीं दी जाएगी। राज्य / संघ राज्य क्षेत्र अपने क्षेत्र मौलयांकन के अनुसार विभिन्न उपायों के अनुसार प्रस्ताव पर विचार कर सकते हैं।

सांस्कृतिक समारोह और कार्यक्रम के संबंध में मानक प्रसार प्रक्रिया (एसओपी) –
एक-दूसरे से हर समय कम से कम 6 फीट की पर्याप्‍त दूरी रखें। फेस कवर / माएं का हर समय उपयोग करना अनिवार्य किया जाना चाहिए। कार्यक्रम से पहले और उसके बाद स्थापितल का सैनिटाइजेशन करना जरूरी है। परिसर के भीतर सामान्‍य क्षेत्रों के साथ-साथ प्रवेश और निकास खडि़यों पर विशेष रूप से, शपर्श-रहित प्रकार के ब्रांडों सैनिटाइजर की सामग्री।

विशेष रूप से सफाई कर्मचारियों द्वारा उपयोग में लाए जाने वाले मा।, दस्त्नों या अन्य उपकरणों को उचित तरीके से फेंकने के लिए विशेष रूप से चिह्नित कूड़ेदान मुख्‍य प्रतिष्ठानों को अद्यतन कराए जाने चाहिए। सभी आगंतुकों / कर्मचारियों / कलाकारों / सहायक समूहों और अन्य व्यवसायों को मोबाइल मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप इंटलॉल करने और उपयोग करने की सलाह दी जाएगी।

श्वेतासन शि अनाटाचार का शिकंती से पालन किया जाता है। इसमें खांसते / छींकते समय एक टिश्यू / रुमाल / कोहनी से मुंह और नाक को ढकने का स्ट्रंती से पालन करना और उपयोग किए गए टिशू को सही तरीके से थकना शामिल है। सभी को अपने स्वास्तथ की पाठवय जांच करना और किसी भी बीमारी के बारे में राज्य और जिला हेल्पलाइन को प्रबंधित करना आवश्यक है। थुकना पूर्णत: वर्जित है।

परिसर में भावगढ मामला या पुष्टि किए गए मामले में-
बीमार प्रतिगमन को एक ऐसे कमरे या प्रदर्शनी में रखें जहां वह दूसरों से अलग रह रहा हो। डॉक्‍टर द्वारा जांच किए जाने के समय तक उन्‍हें एक मास्‍टर / फेस कवर प्रदान किया जाएगा। वित्तीय परामर्शी सुविधा केंद्रिड़ (अस्सपताल / क्लिनिक) को सार्वजनिक संकेत करना या राज्य या जिला हेल्पलाइन से संपर्क करें।

स्टाफ के सदस्यों के लिए दिशानिर्देश-
सभी शटाफ कर्मचारियों के लिए फेस कवर / माया का उपयोग अनिवार्य है और होस्ट सिग्नेचर द्वारा ऐसे फेस कवर विकल्पपावर मात्रा में अपडेट कराए जाने चाहिए। अंकटाफ को अपनी नाक और मुंह हर समय पर उचित रूप से ढकने के लिए परीक्षण किया जाना चाहिए।

कलाकारों और सहायक कलाकारों के दिशानिर्देश (कार्यक्रम विशेष) –
प्रकाश व्यवस्थाएँथा, ध्वनि व्यवस्थापनथा, मेक-अप, परिधान वगैरह दिखाने प्रदान में कार्यरत सहायक समूह सहित सभी बाहरी कलाकारों और सहायक समूह को परामर्श दिया जाता है कि वे मेजबान संगठन के संबंधित प्राधिकारियों को वैध को विभाजित निवारक रिपोर्ट रिपोर्ट प्रिवूट करें। यह जाँच उस कार्यक्रम से 7 दिन पूर्व की गई हो। यदि संभव हो तो प्रबंधन / सरजेडीमेमक एजेंसी द्वारा स्थापितल पर एक मोबाइल जांच इकाई को किया जा सकता है।

यह परामर्श दिया जाता है कि रंगमंच सामग्री का उपयोग कम से कम किया जाए और परिसर में पहले से ही निर्धारित सामग्री के अनुरूप किसी नए उपकरण को लाने से बचना चाहिए। पेशेंट हाउस यह अवुरी सुनिश्चित करें कि सहायक दल के कम से कम लोग परिसर में आएं। स्टेज पर और रिहर्सल के समय को छोड़कर कलाकार हर समय मा को पहनेंगे।

ग्रीन रूम्स के लिए दिशानिर्देश-
सभी कलाकारों को उनकी वेश-भूषा का कुछ हिस्सा (परिधान, केश रचना, मेक-अप आदि) उनके आवास पर ही तैयार करने के लिए तैयार किया जाए ताकि ग्रीन रूम में कम से कम सहायता की समृद्धि की संभावना सुनिश्चित हो सके। परिधान बदलने और मेक-अप के लिए ग्रीन रूम का उपयोग करते समय आपस में पर्याप्‍त दूरी रखने का परामर्श दिया जाता है। (फोटो: फाइल)

ग्रीन रूम में उपस्थित कलाकार / शटाफ यह अवज्ञा सुनिश्चित करें कि एक-दूसरे के साथ कम से कम बातचीत की जाए ताकि मुंह से निकलने वाली हवा कम से कम फैले। सभी ग्रीन रूम प्रिटेक उपयोग से पहले और बाद में अच्छी तरह से सैनिटरीज़ किए जाने चाहिए।

मंच के सिद्धांतों के लिए-
जहां तक ​​संभव हो सके, मंच पर आपस में पर्याप्‍त दूरी दूरी रखने का परामर्श दिया जाएगा। विशेषकर लंबे नाटकों / संगीतमय / नृत्‍य प्रीतुतियों और अन्य सांस्‍कृतिक छंदों के दौरान। प्रत्‍येक उपयोग से पहले और बाद में मंच को अच्‍छी तरह से सैनिटाइज किया जाना चाहिए.

कलाकारों द्वारा कार्यक्रम स्थापितल में प्रवेश करने से पहले और इसके अलावा, प्रस्तुति पेश करने से पहले अपने उपकरणों यथा संगीत वाद्ययंत्रों का सैनिटरीकरण सुनिश्चित किया जाना चाहिए। प्रबंधनकर्ता कार्यक्रम स्थापितल पर सैनिटरीकरण का प्रावधान अवस्ये करें।

प्रवेश और निकासी स्थानों के लिए दिशा-निर्देश-
माध्य के बिना प्रवेश पूर्णत: वर्जित होगा। , अभिजात वर्ग और वर्णानुक्रम नोड और मुंह को ढकते हुए उचित रूप से हर समय मा को पहनेंगे। प्रबंधनकर्ता उन आगंतुकों की पहचान और जांच करेंगे जो इस मूल नियम का उल्लिलिंग कर रहे हैं और उनके द्वारा सहयोग न किए जाने की स्थिति में वे लोग / संरक्षक / प्रेमिकागण को कार्यक्रम स्थापित करने के लिए कहेंगे।

सभी प्रवेश बिंदुओं पर सभी आगंतुक / शटाफ की थर्मल शेकनिंग की जाएगी। परिसर में केवल बिना किसी लक्षण लक्षण के केवल प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।
सभी एंट्री पॉइंट और कार्य करने के क्षेत्रों पर हाथों को सैनिटरीज़ करने का प्रावधान किया जाएगा। सभागार और परिसर में दर्शकों के प्रवेश और वहाँ से उनकी निकासी के लिए निर्धारित पंक्ति चिह्नक प्रदर्शित कराए जाएंगे।

खाने-पीने की वासुकी और पेय पदार्थ उपलब्ध कराने के लिए दिशानिर्देश-
यदि संभव हो तो सभी कलाकारों और शटाफ को घर से ही अपना भोजन लाने और खाने-पीने के प्रतिष्ठानों / कैफेटेरिया में आपस में दूरी बनाए रखने के लिए सहायता की जानी चाहिए। जिन सहायक समूह और कलाकारों को भोजन की निष्पक्षता हो सकती है वेसेक्स पैक बंद भोजन से बनाया जा सकता है। कैफेटेरिया में खाने की मेजों पर भीड़ नहीं होनी चाहिए। सीटों के बीच पर्याप्‍त दूरी रखी जाए। खाने के लिए डिसपोजेबल बर्तनों के उपयोग को बढ़ावा दिया जाना चाहिए।

बुकिंग और भुगतान के लिए दिशानिर्देश
टिकटों को जारी करने / उनका सप्रदायपन करने / उनका भुगतान करने के लिए डिजिटल संपर्क-रहित लेन-देन प्रक्रिया को अधिक रेटिंग दी जाएगी। सभी सांसाकृतिक हस्ताक्षरकर्ताओं को उनकी प्रोग्रामिंग के लिए टिकटों की ऑफ़लाइन खरीद शुरू करने के लिए सूचित किया जाएगा। संपर्क में आने वाले नियक्ति का पता लगाने की प्रक्रिया को सुगम बनाने के लिए सभी विभागों से संपर्क करें टिकटों की बुकिंग के समय पर जाना चाहिए।

बॉक्‍स ऑफिस पर टिकटों की खरीद को पूरे दिन खुला रखा जाना चाहिए और बिक्री काउंटर पर भीड़ से बचने के लिए कारणों से बुकिंग की अनुमति लेनी चाहिए। बॉक्स ऑफिस पर लोगों की पंक्ति को दस्तावेज़ करने के दौरान आपस में दूरी बनाए रखने के लिए फर्श संकेतक का उपयोग किया जाना चाहिए।

बैठने की व्यवस्था के लिए दिशानिर्देश
सभागारों / बंद प्रसतुति प्रतिष्ठानों में दर्शकों की उपस्थिति बैठने की कुल क्षमता के 50 प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए, अधिकतम 200 प्रतिगमन की केवल अनुमति होगी। सभागार / बंद प्रस्तुति प्रतिष्ठानों के अंदर बैठने की व्यवधानार्थ इस प्रकार की जाएगी कि आपस में पर्याप्‍त रूप से दूरी कायम रखी जा सके।

‘इस पर नहीं बैठें’ के चिह्न वाली बुकिंग बुकिंग (टिकटों की ऑफ़लाइन बुकिंग और बॉक्‍स ऑफिस बुकिंग दोनों के लिए) के दौरान मार्क कर दिया जाना चाहिए। सभागारों / प्रस्सुति स्थापितों के भीतर ‘इस पर नहीं बैठें’ चिह्न वाली सीटों पर टेप लगा दी जाए या उन पर ढीले चिह्न से चिह्नित किया जाना चाहिए ताकि लोग इन पर न बैठें और हर समय आपस में वैकल्पिकपसंद दूरी सुनिश्चित हो सकें। खुले प्रतिष्ठानों पर एक ही पंक्ति में 2 सीटों के बीच और दो पंक्तियों के बीच कम से कम 6 फीट की दूरी रखी जानी चाहिए। भारी भीड़ से बचना चाहिए।

कार्यक्रम संचालन के समय से संबंधित दिशानिर्देश-
स्थापितल पर भीड़ जमा होने से बचने के लिए प्रवरुतियों के लिए अलग-अलग समय रखा जाए। किसी सभागार में प्रस्तुति शुरू होने का समय, मध्यांतर अवधि और समापूर्ण होने का समय उसी स्थापितल पर किसी अन्य सत्तार में किसी अन्य प्रस्वतुति के शुरू होने का समय, मध्यांतर अवधि या समाप्‍त होने का समय एक नहीं होना चाहिए।

कार्यक्रम / समारोह की शुरुआत और समापन के लिए दिशानिर्देश-
कार्यक्रम की शुरुआत या समापन के समय पर कलाकारों के सममान समारोह का आयोजन से बचा जा सकता है और इसे सुरक्षित दूरी कायम रखने के मानकों का अनुपालन सुनिश्चित करना कठिन हो जाएगा। कार्यक्रम के दौरान, कार्यक्रम से पहले या बाद में कलाकारों से बात करने / उन्हें बधाई देने देने / उनके साथ तस्वीर लेने जैसे कार्यों के लिए दर्शकों को अनुमति नहीं दी जाएगी क्योंकि यह सुरक्षित दूरी संबंधी मानकों के विरूद्ध होगा।

दिशा-निर्देश
केंद्र / वेंटिलेशन के लिए केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के दिशानिर्देशों का पालन किया जाएगा, जिसमें अन्य बातों के साथ-साथ निचले स्तर पर जोर दिया गया है। सभी उपकरणों का तापमान 24 से 30 डिग्री सेल्सियस के बीच होना चाहिए। ताजी हवा लेनी चाहिए। पर्यायांक क्रॉस वेंटिलेशन होना चाहिए।

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment