Featured

घुटनों के दर्द से जूझ रहे लोगों के लिए अच्छी खबर! सरकार ने 14 सितंबर 2021 तक बढ़ाई ट्रांसप्लांट पर मिलने वाली छूट

अगर आप घुटनों की तकलीफ से जूझ रहे हैं और घुटनों का इम्प्लांट (Knee Implant) कराने की सोच रहे हैं तो ये खबर आपके लिए है. नेशनल फार्मास्यूटिकल प्राइसिंग अथॉरिटी (National Pharmaceutical Pricing Authority-NPP) ने आज बताया कि घुटना प्रत्यारोपण (knee implants) में मिलने वाली छूट को एक साल तक के लिए बढ़ा दिया गया है. अब यह छूट 14 सितंबर 2021 तक लागू रहेगी.

एक साल तक के लिए बढ़ा दी गई छूट

अथॉरिटी के मुताबिक इस कदम से ग्राहकों को सालाना 1500 करोड़ रुपये की बचत होगी. NPPA ने 6 अगस्त को एक मीटिंग आयोजित की थी, जिसमें 14 बड़ी कंपनियों को बुलाया गया था. इन 14 कंपनियों में 10 इंपोर्ट करने वाली कंपनियां और 4 डोमेस्टिक मैन्युफैक्चर्स कंपनियां शामिल थीं. इस मीटिंग में 15 अगस्त से 15 सितंबर 2020 तक घुटने के ट्रांसप्लांट में मिलने वाली छूट को बढ़ा दिया गया था. अब इसे एक साल तक के लिए बढ़ा दिया गया है.

2017 में पहली घुटनों का इम्प्लांट कराने की कीमत हुई थी तय

NPPA ने पहली बार 2017 में एक साल के लिए घुटने के ट्रांसप्लांट की कीमत तय की थी. 14 सितंबर 2020 को अथॉरिटी की फिर से मीटिंग हुई. जिसमें यह नोट किया गया में 2017 में आर्थोपेडिक घुटने के ट्रांसप्लांट की कीमत में 69 फीसदी की कमी आई है. साथ ही डोमेस्टि मैन्युफैक्चर्स की बाजार में हिस्सेदारी बढ़ी है. इससे आत्मनिर्भर भारत को बल मिलता है.

इम्प्लांट की कीमत में 70 फीसदी तक की कटौती

दरअसल घुटनों में खऱाबी समय के साथ एक आम समस्या है वहीं लाइफस्टाइल की वजह से इसके गंभीर मरीजों की संख्या में बढ़त देखने को मिल रही है. पहले ऐसे ऑपरेशन की कीमत काफी ऊंची होती थी जिससे लोग तकलीफ होने के बावजूद ऑपरेशन से बचते थे. इसे देखते हुए ही अथॉरिटी ने कीमतों में 70 फीसदी तक कटौती करने का फैसला किया जिससे ये सुविधा ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचे.

About the author

Yuvraj vyas