Health

गुड़ खाकर गर्म पानी का करें सेवन, खत्म हो जाएगी यह 5 बीमारियां

Loading...

गुड़ सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके नियमित सेवन से कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर किया जा सकता है। आयुर्वेद में भी गुड़ के फायदों का उल्लेख किया गया है। लेकिन बहुत से लोग गुड़ के औषधीय गुणों से अनजान हैं। आज हम इस लेख के माध्यम से गर्म पानी के साथ गुड़ का सेवन करने के लाभों के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

गर्म पानी के साथ गुड़ का सेवन करने के फायदे

1. मोटापा दूर करने के लिए

आज, बहुत से लोग मोटापे से परेशान हैं। इस समस्या से राहत पाने के लिए कई उपाय किए जाते हैं लेकिन कुछ भी हासिल नहीं होता है। अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं और जल्द ही इससे छुटकारा पाना चाहते हैं, तो सोने जाने से पहले गुड़ के दो टुकड़े खाएं और रात में गर्म पानी का सेवन करें। क्योंकि गुड़ में पाए जाने वाले पोटैशियम, मैग्नीशियम, बिटुमिन बी 1, बी 6 और विटामिन सी एक्सट्रा कैलोरी बर्न करते हैं।

2. पेट की समस्याओं के लिए

पेट में गैस की समस्या से निजात पाने के लिए अपच, एसिडिटी, पेट की कमी आदि में 2 टुकड़े गुड़ और रात को सोने से पहले गर्म पानी पीने से फायदा होता है। जो लोग पेट की समस्याओं से परेशान हैं उन्हें इस उपाय को जरूर आजमाना चाहिए।

3. अनिद्रा से छुटकारा पाएं

कई लोग दिन भर की भागदौड़ और गलत जीवनशैली के कारण नींद की बीमारी से पीड़ित हैं। इस समस्या से निजात पाने के लिए वह दवाइयों का सहारा लेते हैं। लेकिन वे इस बात से अवगत नहीं हैं कि नींद की दवाएं स्वास्थ्य को प्रभावित करती हैं। जिन लोगों को अनिद्रा की समस्या है, उन्हें रात में सोने से पहले 1-2 टुकड़े गुड़ खाने चाहिए और गर्म पानी का सेवन करना चाहिए। इस उपाय से अवश्य लाभ होगा।

4. पथरी की समस्या से छुटकारा मिलेगा

पथरी की समस्या से पीड़ित लोगों को रात में सोने से पहले 1 टुकड़ा गुड़ खाना चाहिए और गर्म पानी पीना चाहिए। इस उपाय से पथरी जल्दी टूट जाएगी और मूत्र के रास्ते से बाहर आ जाएगी। इसके अलावा गुड़ का सेवन करने से सीने में जलन और जोड़ों के दर्द से भी राहत मिलती है।

5. बालों का झड़ना कम करें

प्रदूषित वातावरण, तनाव, नींद की कमी और गलत खान-पान के कारण बालों के झड़ने की समस्या उत्पन्न होती है। इस समस्या से राहत पाने के लिए रात को सोने से पहले 1 टुकड़ा गुड़ खाने और गर्म पानी का सेवन करने से लाभ होता है।

Loading...

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment