Featured

गर्भावस्था के दौरान सेक्स को लेकर वहम न पालें, यहां पढ़ें सभी सवालों के जवाब

आमतौर पर सेक्स हमारे शरीर की एक स्वाभाविक जरूरत है, लेकिन गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से अक्सर दंपत्ति डरते हैं। क्योंकि उन्हें वहम रहता है कि सेक्स करने से कहीं शिशु को कोई नुकसान न झेलना पड़े। वैसे तो गर्भ में बच्चा एमनियोटिक द्रव, गर्भाशय और मांसपेशियों से घिरा रहता है और सुरक्षित रहता है। हालांकि, प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करना सुरक्षित है लेकिन महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान कई परिवर्तन होते हैं, शारीरिक और भावनात्मक दोनों ही रूप से। ये परिवर्तन किसी महिला की यौन रुचि या इच्छा को बदल सकते हैं। इसके अलावा, गर्भावस्था की शारीरिक असुविधाएं या बच्चे को नुकसान पहुंचाने की आशंकाएं, दंपत्ति के यौन संबंधों को प्रभावित कर सकती हैं।

प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स कितना सुरक्षित है?
जब तक गायनोलॉजिस्ट या दाई ने आपको संभोग न करने के कोई उचित कारण दिए हैं तब तक आप संभोग कर सकते हैं। यह आपके लिए, आपके साथी और आपके विकासशील बच्चे के लिए बिल्कुल सुरक्षित है। (यदि आपका डॉक्टर या दाई बस “सेक्स” कहती है, तो यह स्पष्ट करने से डरें नहीं कि क्या उनका मतलब केवल यौन उत्तेजना है।)

क्या आपको एक राज की बात पता है कि गर्भावस्था के दौरान सेक्स सिर्फ सुरक्षित ही नहीं बल्कि यह आपके लिए अच्छा भी है। जिन महिलाओं के गर्भाधारण के दौरान ऑर्गेज्‍म होता है, उन्हें हार्मोन के बढ़ने और हृदय रक्त प्रवाह में वृद्धि की दिक्कत नहीं होती है, और ये सभी चीजें होने वाले बच्चे के लिए लाभकारी होती हैं। यह जानकारी हमें यूरोलॉजी में एक चिकित्सक सहायक और सेक्स काउंसलर ने महिलाओं के स्वास्थ्य और यौन चिकित्सा के विषय में दी।

सेक्स करने की इच्छा में परिवर्तन होना: कई महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान यौन इच्छा या रुचि में बदलाव होता है। यौन इच्छा में बदलाव के कुछ महत्वपूर्ण कारण हो सकते हैं, जो कि इस प्रकार है:

प्रेग्नेंसी के दौरान शुरुआती तीन महीने में थकान रहती है और उल्टी भी काफी होती है जो सेक्स में रुचि को कम कर सकती है।
प्रेग्नेंसी के दौरान चार से छः महीने में पैल्विक रक्त प्रवाह में वृद्धि और स्तन के आकार में वृद्धि होने से सेक्स में रुचि बढ़ सकती है।
प्रेग्नेंसी के दौरान आख़िरी तीन महीने में सेक्स के दौरान थकान, पीठ दर्द या शारीरिक परेशानी फिर से सेक्स की रुचि को कम कर सकती है।

कुल मिलाकर, अधिकांश महिलाएं अपनी बढ़ती गर्भावस्था के दौरान यौन इच्छा में कमी का अनुभव करती हैं। यह सामान्य है, और ज्यादातर मामलों में यौन इच्छा डिलीवरी के कुछ समय बाद सामान्य हो जाती है। बहुत सी महिलाएं गर्भावस्था के दौरान यौन इच्छाओं में बदलाव या सेक्स में रुचि नहीं होने का अनुभव भी करती हैं। यह भी सामान्य और स्वस्थ है। साथी की गर्भावस्था के दौरान पुरुष भी सेक्स की इच्छा में बदलाव का अनुभव कर सकते हैं। इनमें अपने साथी में होने वाले शारीरिक परिवर्तनों के कारण या बच्चे को नुकसान पहुंचने या पिता बनने का डर और चिंता शामिल हो सकती है। जो भी परिवर्तन होते हैं, यह महत्वपूर्ण है कि दंपत्ति गर्भावस्था के दौरान यौन मामलों पर खुलकर चर्चा करें।

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment