Featured India khet kisan

किसान बिल पर बोले PM मोदी- देश का किसान देख रहा है, कौन हैं, जो बिचौलियों के साथ खड़े हैं

किसान बिल पर पीएम मोदी- देश का किसान देख रहा है, वो कौन लोग हैं जो बिचौलियों के साथ खड़े हैं

पीएम ने अपने संबोधन में किसान बिलों का विरोध करते हुए नारे लगाए

विशेष चीज़ें

  • ये बिल किसानों को बिचौलियों से बचाने के लिए लाया गया था
  • दुरुपयोग होने से किसानों को एमएसपी का लाभ नहीं मिलेगा
  • यह सब झूठ है, देश का किसान जागता है

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (पीएम नरेंद्र मोदी) ने किसान विधेयकों के विरोध के मामले में सरकार का रुख स्पष्ट किया है। अपने संबोधन में, कई परियोजनाओं को शुरू करने के लिए आज बिहार पहुंचे पीएम ने कहा कि किसानों और ग्राहकों के बीच बिचौलियों से बचाने के लिए इस बिल को लाना जरूरी था, जो खुद किसानों की कमाई का एक बड़ा हिस्सा लेते हैं। उन्होंने कहा कि ये तीनों फार्म बिल किसानों के लिए रक्षा कवच के रूप में आए हैं। पीएम मोदी कहा कि अब राजनीतिक दलों और लोगों द्वारा यह प्रचारित किया जा रहा है कि सरकार द्वारा किसानों को एमएसपी का लाभ नहीं दिया जाएगा। यह भी कहा जा रहा है कि सरकार किसानों से धान, गेहूं आदि नहीं खरीदेगी। उन्होंने जोर देकर कहा कि यह गलत झूठ है, गलत है, किसानों को धोखा दिया जाता है। लेकिन ऐसे लोग भूल रहे हैं कि देश का किसान जाग रहा है। वह देख रहा है कि कुछ लोगों को किसानों को मिल रहे नए अवसर पसंद नहीं हैं। देश का किसान देख रहा है कि वे कौन लोग हैं, जो बिचौलियों के साथ खड़े हैं।

यह भी पढ़ें

किसान बिल: दुष्यंत चौटाला ने हरसिमरत कौर के इस्तीफे का दबाव बनाया

प्रधानमंत्री ने कहा कि एनडीए के शासन में पिछले 6 वर्षों में किसानों के लिए जितना किया गया है, उतना पहले कभी नहीं किया गया। अन्नादता के किसानों की समस्याओं को देखते हुए, हमारी सरकार ने हर समस्या को दूर करने के लिए निरंतर प्रयास किए हैं। मैं इस बिल के लिए देश भर के किसानों को बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि एपीएमसी अधिनियम, जो ये लोग अब राजनीति कर रहे हैं, कृषि बाजार के प्रावधानों में बदलाव का विरोध कर रहे हैं, वही बदलाव इन लोगों ने अपने घोषणा पत्र में लिखा था, लेकिन अब जब एनडीए सरकार ने ये बदलाव किए हैं , तो ये लोग इसके विरोध में उतर आए हैं।

किसान विधेयक क्या है? पंजाब में हंगामा क्यों हुआ? किसानों के सामने क्यों झुके अकाली दल?

पीएम ने कहा कि कोई भी व्यक्ति जहां चाहे अपनी उपज बेच सकता है, लेकिन केवल मेरे किसान भाइयों और बहनों को इस अधिकार से वंचित रखा गया। अब नए प्रावधानों के लागू होने के कारण, किसान देश के किसी भी बाजार में अपनी फसल बेच सकते हैं। मैं इसे अपने वांछित मूल्य पर बेच सकता हूं। उन्होंने कहा, ‘मैं आज देश के किसानों को एक स्पष्ट संदेश देना चाहता हूं। किसी भी तरह के भ्रम में न पड़ें। देश के किसानों को इन लोगों से सतर्क रहना होगा। उन लोगों से सावधान रहें जिन्होंने दशकों तक देश पर शासन किया और जो आज किसानों से झूठ बोल रहे हैं।

पीएम मोदी-कोरोना ने संसद सत्र से पहले कहा और ड्यूटी भी



About the author

Yuvraj vyas