Business

किसान ने फॉर्म भरने में कर दी ये गलती तो नहीं मिलेंगे सालाना 6000 रुपये, जानिए

Loading...

कोरोनावारस लॉकडाउन में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम की पांचवी और इस फिस्कल ईयर की पहली किस्त 2000 रुपये किसानों के अकाउंट्स में भेज चुकी है।  लेकिन देश में करीब 70 लाख ऐसे किसान हैं, जिन्हें अभी तक पीएम किसान सम्मान निधि की एक पाई तक नहीं मिली है। अगर आप भी इन 70 लाख में शामिल हैं तो आपको भी कुछ काम करना होगा।

PTI7_9_2019_000060B

क्या है पूरा मामला – अगर आपने भी पीएम किसान सम्मान निधि पाने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है और पात्र होने के बावजूद भी आपको स्कीम का लाभ नहीं मिल पाया है, तो हो सकता है कि आपके आधार कार्ड या बैंक अकाउंट या फिर किसी दूसरे डॉक्यूमेंटेस में नाम की स्पेलिंग में अंतर हो। एक स्पेलिंग मिस्टेक की वजह से करीब 70 लाख किसानों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि के 6000 रुपये में से 2000 की पहली किस्त नहीं पहुंच पाई है। अगर आाप भी इन 70 लाख किसानों में से हैं तो इस गलती को अभी सुधार लें।

 

कहां हुई चूक – इस स्कीम में किसानों को अपना आधार कार्ड और बैंक अकाउंट समेत कई सारे डॉक्यूमेंट्स बैंक में जमा करने थे। ऐसे में बैंक के पास कई से किसानों के डॉक्यूमेंट्स हैं जहां आधार कार्ड और बैंक काउंट में नाम अलग है। भले ही उसमें एक छोटी सी स्पेलिंग का अंतर हो। लिहाजा किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम का लाभ नहीं मिल पा रहा है। बता दें मोदी सरकार सालाना 14.5 करोड़ लोगों को पैसा देना चाहती है, लेकिन लाभ अभी 9.68 करोड़ किसानों को ही मिल सका है। इस गलती की वजह से किसानों का करीब 42,000 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है।

अगर आप भी इस छोटी गलती के शिकार हो गए हैं, तो आप इन आसान नियमों को फॉलो करते हुए अपनी गलती सुधार सकते हैं।

 

गलती को ऐसे करें ठीक – सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री किसान स्कीम की वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/   पर विजिट करना होगा।
इसके बाद आपको कॉर्नर में Edit Aadhaar Details ऑप्शन दिखाई देगा।
अब वहां पर अपना आधार नंबर डालकर सबमिट करें।
अब सब कुछ मैच करें अगर आपका नाम गलत हैं तो आप यहां से ठीक कर सकते हैं।
अगर नाम की जगह और कुछ गलत हैं तो आपको अपने लेखपाल या कृषि विभाग कार्यालय में संपर्क करना होगा।

Loading...

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment