Featured

कर्ज ज्यादा-कमाई कम, 3 मोर्चों पर बढ़ सकती है मोदी सरकार की चिंता

कोरोना परिस्थिति काल में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के लिए तीन चिंता पैदा करने वाली खबर हैं। ये तीनों समाचार देश के इकोनॉमी से जुड़े हैं। इस कारण से आने वाले दिनों में सरकार की परेशानी बढ़ सकती है।

ताजा आंकड़ों के मुताबिक केंद्र सरकार का कर्ज बढ़ गया है। बता रहे हैं कि जून 2020 के अंत तक सरकार की देयता 101.3 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गई है।

इससे पहले मार्च 2020 के अंत में यह 94.6 लाख करोड़ रुपये पर था। साल भर पहले यानी जून 2019 के अंत में सरकार का कुल कर्ज 88.18 लाख करोड़ रुपये था।

इस वित्त वर्ष यानी 2020-21 में 15 सितंबर तक एडवांस टैक्स कलेक्शन सहित केंद्र सरकार के कुल कर संग्रह में 22.5 प्रतिशत की कमी आई है।

कुल टैक्स कलेक्शन घटकर 2,53,532.3 करोड़ रुपये ही रहा है। आपको बता दें कि जून तिमाही में कुल कर संग्रह में साल भर पहले की तुलना में 31 प्रतिशत की भारी गिरावट आई थी।

देश का विदेशी मुद्रा भंडार पिछले सप्ताह अपने सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद 11 सितंबर को समाप्त सप्ताह में 35.3 करोड़ डॉलर की गिरावट के साथ 541.66 अरब डॉलर पर आ गया है। इससे पहले चार सितंबर को समाप्त सप्ताह में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 58.2 करोड़ डॉलर 542.01 अरब डॉलर से अधिक था।

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment