Featured Politics

कंगना रनौत ने किया जया बच्चन से सवाल, अगर मेरी जगह आपके बच्चे होते, तब भी आप यही कहतीं क्या…?

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं. बॉलीवुड में ड्रग्स कार्टेल चलने के कंगना के आरोपों के बाद से खड़ा विवाद संसद तक पहुंच चुका है. अब कंगना ने इसी बहाने राज्यसभा सांसद जया बच्चन (Jaya Bachhan) पर हमला बोला है. दरअसल, जया बच्चन ने अभिनेता और बीजेपी सांसद रवि किशन के उस बयान का विरोध किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि बॉलीवुड में ड्रग्स की लत बहुत बड़ी है और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो अच्छा काम कर रही है. उन्होंने बॉलीवुड में भी ड्रग्स के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी. इसपर जया बच्चन ने कहा था कि कुछ लोग इंडस्ट्री में ही रहकर उसका नाम खराब कर रहे हैं. 

 

इसपर कंगना के ट्विटर अकाउंट से भी प्रतिक्रिया दी गई. ट्वीट में लिखा गया, ‘जया जी, अगर मेरी जगह पर आपकी बेटी श्वेता बच्चन होतीं, उन्हें ड्रग्स दिए जाते, टीनएज के दौरान शोषण किया जाता तो क्या आप फिर भी यही कहतीं? क्या अगर अभिषेक लगातार शोषण और बुलिंग किए जाने की शिकायत करते और किसी दिन फांसी से लटके मिलते तो क्या फिर भी आप यही कहती? हमारे लिए भी दया दिखाइए.’

बता दें कि सोमवार को सोमवार को संसद के मॉनसून सत्र के पहले दिन बीजेपी के राज्यसभा सांसद रवि किशन ने कहा था कि ‘ड्रग्स की तस्करी और युवाओं द्वारा इसका सेवन करना हमारे देश के सामने नई चुनौती बनकर सामने आया है. युवाओं को भटकाने के लिए चीन और पाकिस्तान साजिश के तहत पंजाब और नेपाल के जरिए यह ड्रग्स पूरे देश में फैलता है. ड्रग्स की लत का शिकार बॉलीवुड भी है. NCB बहुत अच्छा काम कर रहा है. मैं केंद्र सरकार से अनुरोध करुंगा कि दोषियों को जल्द से जल्द पकड़कर सख्त सजा दी जाए ताकि पड़ोसी देशों की साजिश का अंत हो सके.’

यह भी पढ़ें: जया बच्चन ने बॉलीवुड को बदनाम करने के लिए BJP सांसद पर साधा निशाना तो डायरेक्टर बोले- रीढ़ की हड्डी ऐसी…

इसपर जया बच्चन ने पलटवार कहते हुए कहा था कि ‘कुछ लोगों की वजह से, आप पूरी इंडस्ट्री की छवि खराब नहीं कर सकते हैं. मुझे कल बहुत बुरा लगा जब लोकसभा के एक सदस्य, जो खुद इंडस्ट्री से ताल्लुक रखते हैं, ने फिल्म इंडस्ट्री के बारे में खराब बोला. जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं.’

Video: जया बच्चन की नाराजगी पर बोले रवि किशन, मैं इंडस्ट्री को बचाना चाहता हूं





About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment