Featured

आज से बदल जाएंगे ट्रैफिक के नियम, जानें- जब पुलिसवाले रोकें तो क्या करें?

पहले अक्टूबर के कई बदलावों के बाद होने वाले हैं। विशेष रूप से गुरुवार से आप ट्रैफिक पुलिस के रोकने पर डिजिटल डॉक्यूमेंट्स की बोली आगे बढ़ा सकते हैं। अब वाहन के साथ में ड्राइविंग लाइसेंस सहित सभी तरह के डॉक्यूमेंट्स के साथ रखने की योग्यता नहीं होगी।

दरअसल, सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने की दिशा में काम करते हुए मोटर वाहन नियम, 1989 में संशोधन किया है। जिसके तहत अब मंत्रालय 1 अक्टूबर 2020 से बदले हुए नियम लागू करने जा रहा है। ऐसे में अब गुरुवार से आपको अपनी कार, बाइक या फिर किसी अन्य वाहन के साथ जरूरी दस्तावेज के साथ चलने की जरूरत नहीं होगी।

चालक अब अपने वाहन से संबंधित डॉक्यूमेंट्स Digi-locker या m-parivahan में स्टोरेज कर सकते हैं, और गिरने वाले जरूरत पर डिजिटल माध्यम से दिखाने की छूट होगी। यानी अब ट्रैफिक पुलिसकर्मी हार्ड कॉपी की मांग नहीं करेंगे।

अगर किसी वाहन संबंधी डॉक्यूमेंट्स को डिजिटल वेलिडेशन पूरा हो गया है तो उन्हें फीजिकल रूप में कोई डॉक्यूमेंट्स दिखाने की जरूरत नहीं होगी। इसमें वह मामला भी शामिल होगा, जिसमें नियमों में उल्लंघन के बाद डॉक्यूमेंट्स रुकने की जरूरत होती है।

इसके अलाव ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करने वालों को ई-विज्ञापन भी सरकार के डिजिटल पोर्टल के माध्यम से जारी किया जाएगा। यही नहीं, ड्राइविंग लाइसेंस कैंसिल करने के बाद डिजिटल पोर्टल पर रिपोर्ट करना होगा। सरकार चाहती है कि कोई भी वाहन की चेकिंग बार-बार नहीं की जाए, जिससे सड़क पर चलने की परेशानी कम हो।

मंत्रालय का कहना है कि नए नियमों के बाद ट्रैफ़िक उल्लंघन के मामलों को लेकर ऑनलाइन अपडेट किया जाएगा। जिसमें अथॉविज टीजे और ड्राइवर के व्यवहार को भी रिकॉर्ड में रखा जाएगा। जिसमें जांच का समय स्टैम्प, पुलिस अधिकारी का वर्दी प्रदर्शन सहित पहचान पत्र का रिकॉर्ड भी पोर्टल पर अपडेट होगा। ट्रैफिक के नए नियम के दायरे में अधिकृत अधिकारी भी आएंगे।

इसके अलावा एक विशेष नियम एक अक्टूबर से बदल रहा है। मंत्रालय ने ड्राइविंग के दौरान मोबाइल फोन्स के इस्तेमाल करने के नियमों में भी संशोधन किया है। ड्राइविंग के दौरान मोबाइल या अन्य ब्रांडहेल्ड डिवाइस का इस्तेमाल केवल रूट नेविगेशन के लिए होगा। साथ ही यह भी ध्यान रखना होगा कि रूट नेविगेशन के समय पूरा ध्यान ड्राइविंग पर ही हो।

इसके अलावा फोन का इस्तेमाल करने पर प्याज देना पड़ सकता है। यह भी साफ किया गया कि ड्राइविंग के दौरान फोन पर बात करते हुए पकड़े जाने पर 1,000 रुपये से लेकर 5,000 रुपये तक का जुर्माना लग सकता है।

अब लाइसेंस, आरसी भी आप घर बैठे अनलाइन बनवा सकते हैं। नए नोटिफिकेशन के अनुसार अब आधार कार्ड का इस्तेमाल किया गया ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बन जाएगा, लाइसेंस का नवीनीकरण, गाड़ी का पंजीकरण और इनसे जुड़े दस्तावेज में पता लगाने के लिए होगा।

About the author

Yuvraj vyas

Leave a Comment