Featured

अपशकुन मानी जाती हैं ऐसी 10 घटनाएं, जानिए इनके संकेत

Written by Yuvraj vyas

बचपन से ही आप शगुन और अपशगुन के बारे में पढ़ते और सुनते आ रहे हैं। जैसे कि जब हम परीक्षा देने के लिए घर से निकलते हैं तो दही खाकर निकलने क परंपरा है। मान्यता है किसी भी कार्य को शुरू करने से पहले अगर दही खाकर घर से निकला जाता है तो कार्य जरूर शुभ और सफल होता है। वहीं दूसरी तरफ कई अपशगुन भी होते हैं। जिनके बारे में मान्यता है कि अपशगुन होने पर कार्यों में बाधाएं आती हैं और कार्य सफल नहीं होता। शगुन और अपशगुन की ये मान्यताएं प्राचीनकाल से ही चली आर रही हैं। जिसमें कुछ लोग इन मान्यताओं पर विश्वास करते हैं तो कुछ नहीं। आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही 10 अपशगुनों के बारे में…   

1- पानी का अपशगुन
ऐसा माना जाता है कि जिन घरों में नल से लगातार पानी टपकता रहता है वहां धन की हानि होती रहती है। इसके अलावा सुबह-सुबह बाथरूम में खाली बाल्टी देखना भी अपशगुन माना जाता है। खाली बाल्टी देखने से आर्थिक और मानसिक परेशानियां आती हैं। ऐसे में हमेशा बाथरूम में बाल्टी को भरकर रखना चाहिए।

2- लोहे की चीजों का अपशगुन
मान्यता है जिन घरों में छोटे बच्चे होते हैं वहां पर नकारात्मक ऊर्जाएं जल्दी से हावी हो जाती है। ऐसे में उनके बिस्तर के सिरहने के पास लोहे से बनी चीजों का रखने से नकारात्मक ऊर्जाएं नहीं भटकती है। लेकिन जंग लगी लोहे की चीजों का घर पर रखना अपशगुन माना जाता है।

3- दूध का अपशगुन
 दूध का उबलकर जमीन पर गिरना अशुभ माना जाता है। जमीन पर दूध के गिरने से किसी बड़ी दुर्घटना या हानि होने का संकेत माना जाता है।

4- शीशे का अपशगुन
वास्तु शास्त्र में शीशे के बारे में काफी विस्तार से बताया गया है। शगुन शास्त्र में शीशे या कांच की चीजो का टूटना बहुत ही अपशगुन माना जाता है। टूटे हुए आइने में कभी भी देखकर श्रृंगार नहीं करना चाहिए। इसके अलावा एक साल से छोटे बच्चों को आईना देखना अशुभ होता है। घर के कोनो में कांच के टूटे हुए टुकड़ो को जमा कर रखना भी अशुभ माना जाता है।

5- छुरी-कांटे का अपशगुन
चाकू का गिरना भी शगुन शास्त्र के अनुसार अशुभ माना गया है। इसके अलावा कभी भी छुरी-कांटे को क्रास करके नहीं रखना चाहिए। इससे तनाव और घर में कलह बढ़ती है।
 
6-झाडू का अपशगुन
झाडू में माता लक्ष्मी का वास माना जाता है। झाडू पर पैर रखना और शाम के समय घर पर झाडू लगाना बहुत ही अशुभ माना गया है। इसके अलावा झाडू को खुली जगह पर नहीं रखनी चाहिए बल्कि किसी कोने में छिपाकर ही रखना चाहिए। 
 
7- छींक का अपशगुन
 घर से निकलते समय अगर छींक आ जाए तो इसे भी बहुत अपशकुन माना जाता है। घर से निकलते वक्त अगर छींक आएं तो वापस घर के अंदर चले जाना चाहिए और पानी पीकर ही दोबारा निकलना चाहिए।

8- पैसे से जुड़ा अपशगुन
कभी भी जेब या फिर पर्स पैसों से खाली नहीं रखना चाहिए। जेब का खाली रखना अपशगुन माना जाता है।
 
9 – पक्षियों से जुडा हुआ अपशगुन
घर पर मकड़ी के जाले का होना और चमगादड़ों, कबूतरों का घर पर डेरा डालना बड़ी अपशगुन माना जाता है। इसके अलावा घर पर घायल या मृत्यु पक्षी गिरना बहुत ही अपशकुन माना जाता है।

10- जानवरों का अपशगुन
घर पर कुत्तों और बिल्लियों का रोना या फिर आपस में झगड़ा करना अच्छा नहीं माना जाता है। घर या घर के आसपास कुत्तों या बिल्लियों का रोना किसी अप्रिय घटना के होने का संकेत माना जाता है। 

नोट: इस लेख में दी गई जानकारी लोक परंपराओं और मान्यताओं पर आधारित है। हम इनकी पुष्टि नहीं करते।

About the author

Yuvraj vyas